भोपाल,

जीसस क्राइस्ट के पुनर्जीवित होने की घटना को दर्र्शते हुए एक लघु – नाटिका के द्वारा छात्रों ने समाज को मानवता का संदेश दिया.

एक लघुगीत के द्वारा छात्रों ने दिखाया कि बुराइयाँ समाज पर किस प्रकार हावी हो जाती है. जीसस ने उन बुराइयों पर अच्छाई के द्वारा विजय पाने का संदेश दिया. विभिन्न सहायक सामग्री के द्वारा विषय प्रभावपूर्ण था. अंत में विद्यार्थियों से सामान्य ज्ञान के प्रश्न पूछे गए. शाला प्राचार्य ब्रदर एलेक्स ने छात्रों की प्रशंसा की तथा आगामी अध्ययन व्यवस्था में छात्रों को अध्ययन हेतु प्रेरित किया.

Related Posts: