4 btl 1बैतूल,4 अगस्त नभाप्र. जिले के घोड़ाडोंगरी के पास स्थित ग्राम चोरपांढरा में एक पहाड़ी नाले में स्कूल बस फंस गई। ड्रायवर की सूझबूझ से बच्चों को सुरक्षित दूसरी तरफ ले जाया गया लेकिन इसके बाद बस पानी के बहाव में बह गई। जानकारी के मुताबिक ग्राम चोरपांढरा के पास एक पहाड़ी नाला है जिसमें लगातार बारिश के कारण बाढ़ की स्थिति है। गांव के पास ही पीएलएस स्कूल है जिसमें आसपास के कई गांव के बच्चे पढ़ते हैं। इन्हें लाने-ले जाने के लिए एक बस है जिसमें बच्चे स्कूल से छुट्टी के बाद जा रहे थे।

चोरपांढरा के नाले में पानी ऊपर से बह रहा था और ड्रायवर ने धीमे-धीमे बस को उसमें से निकालने का प्रयास किया लेकिन बस बीच में ही बंद हो गई। यह देखकर ड्रायवर ने बच्चों को एक-एक कर नाले के दूसरी तरफ पहुंचाया। फिर खुद ही दूसरी तरफ खड़े होकर पानी नीचे उतरने का इंतजार करने लगा लेकिन अचानक नाले में पानी और बढ़ गया।
पानी का बहाव तेज हो जाने पर बस उसमें बहकर काफी दूर चली गई।बस नाले में लगभग 300 फिट 100 मीटर के करीब बहकर मट्टी में फस गई है। वहीं स्कूल के प्रबंधक घटना स्थल पर मौजूद नहीं होने के कारण पालकों में भारी गुस्सा देखा गया। पालकों ने आरोप लगाया कि स्कूल प्रबंधन की लापरवाही के चलते यह हादसा हुआ है। स्कूल बस में लगभग 30 से 35 बच्चे मौजूद थे।बारिश के कारण बैतूल के माचना एवं करबला के पुल पूरे शबाब पर है लगातार बारिश का आकड़ा 100 मिमी से अधिक हो गया था। बारिश के कारण बैतूल का सम्पर्क सभी मुख्य मार्गो से टूट गया है। बारिश की झमाझम ने बैतूल को टापू में तब्दील कर दिया है। इधर माचना नदी एवं कर्बला घाट पर बाढ़ का विहंगम दृश्य देखने भी लोग पहुंच रहे है। पूरे जिले में बाढ़ को लेकर अलर्ट जारी किया गया है।
इधर शाहपुर में सूखी नदी में बाढ़ के कारण जाम की स्थिति बन गई है। बाढ़ के हालात से निपटने के रेस्क्यू टीम को भी अलर्ट रहने के निर्देश दिए गए है। बड़ी नदियों के साथ उप नदियों पर बने रपटो एवं पुल पुलियाओं पर बाढ़ से आवागमन बंद हो गया है। सड़क मार्ग बंद होने से नगर के बस स्टेण्ड पर नागरिक परेशान होते रहे है। सोमवार शाम से झमाझम बारिश का सिलसिला बदस्तूर जारी है।

5 फीट ऊपर से बही सूखी नदी
लगातार हो रही तेज बारिश से नगर की माचना, सूखी नदी एवं कई नालें उफ ान पर आ गये।

मंगलवार सुबह 6 बजे से सूखी नदी एवं भौंरा की बिजासन नदी के पुल पर से पानी आ जाने से नेशनल हाईवे का यातायात पूरी तरह से बंद हो गया। नगर की माचना नदी में सुबह 10.30 बजे से पुल पानी आ जाने से यातायात बाधित रहा। पुलिस प्रशासन की लापरवाही के चलते एक ओर जहां दुपहिया, चौपहिया वाहन चालक पुल पर पानी होने के बाद भी पुल करते रहें।

वहीं भारी संख्या में स्थानीय लोगों द्वारा अपनी जान जोखिम में डालकर नदी से लकड़ी पकड़ते रहें, लेकिन उनकों रोकने की जहमत किसी ने नहीं उठाई। वहीं तेज बारिश के चलते नगर की कई निचली बस्तियों में पानी भर जाने से लोगों को खासी परेशानियों का सामना करना पड़ा. इस दौरान वाडज़् क्रमांक 19 एवं 20 में पानी की निकासी नहीं होने से बारिश का पानी लोगों के घर में घुस गया.

Related Posts: