UNI PHOTO-62U

नयी दिल्ली,  इलेक्ट्रानिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी तथा कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने आज कहा कि निजता के अधिकार को सुनिश्चित करते हुये गरीब और उपेक्षितों पर ध्यान केन्द्रित कर समग्र विकास में उपयोग के लिए बिग डाटा का उपयोग किया जायेगा।

श्री प्रसाद ने आज यहां एक साथ राष्ट्रव्यापी हैकथॉन ‘ ओपन गोव डाटा हैक’ की शुरूआत के मौके पर कहा कि सरकार बेहतर प्रशासन सुनिश्चित करने के लिए बिग डाटा का उपयोग करने के प्रति कटिबद्ध है। इस दौरान लोगों के निजता के अधिकार को सुनिश्चित करते हुये बिग डाटा का उपयोग किया जायेगा। हालांकि उन्होंने कहा कि बिग डाटा के दुरूपयोग को कड़ाई से निपटा जायेगा ताकि देश में बिग डाटा का उपयोग एक आंदोलन बन सके।

उन्होंने कहा कि बिग डाटा का विश्लेषण गरीब और उपेक्षित पर केन्द्रित होने के साथ ही समग्र विकास में मददगार होना चाहिए। इस हैकथॉन में भाग ले रहे लोगों से डाटा विश्लेषण का नेतृत्वकर्ता बनने का आह्वान करते हुये उन्होंने यह सुनिश्चित करने के लिए कहा कि प्रौद्योगिकी समग्र, किफायती, परिवर्तनकारी और विकासात्मक होनी चाहिए। सात राज्यों में एक साथ हो रहा यह हैकथॉन से स्टार्टअप क्रांति को गति मिलनी चाहिए। मंत्री ने इसमें भाग ले रहे प्रतिभागियों को सरकार स्टार्टअप को बढ़ाने के लिए तैयार और इसे बड़े पैमाने पर सफल बनाना चाहती है।

स्टार्टअप ईको सिस्टम विकास कार्यक्रम के तहत नेशनल इंर्फोमेटिक्स सेंटर (एनआईसी) और आईएएमएआई के सहयोग से यह हैकथॉन देश में सात शहरो में एक साथ आयोजित किया गया।

Related Posts: