नयी दिल्ली,

अमेरिकी दूतावास ने आज स्पष्ट किया कि अमेरिका जाने वाला कोई राष्ट्राध्यक्ष या शासनाध्यक्ष निजी पासपोर्ट पर यात्रा करेगा तो उसे सामान्य नागरिक की तरह से सुरक्षा जांच से गुजरना पड़ेगा।

अमेरिकी दूतावास के प्रेस अधिकारी एवं उप प्रवक्ता अलेक्ज़ेंडर मैक्लारेन ने यहां संवाददाताओं के सवालों के जवाब में यह बात कही। संवाददाताओं ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शाहिद खकान अब्बासी के निजी यात्रा पर अमेरिका पहुंचने पर हवाई अड्डे पर सुरक्षाकर्मियों द्वारा सघन तलाशी लिए जाने की घटना के बारे पूछा था कि पद पर होने पर भी राष्ट्राध्यक्ष या शासनाध्यक्ष की ऐसी जांच कैसे हो सकती है।

श्री मैक्लारेन ने कहा कि अगर शासनाध्यक्ष या राष्ट्राध्यक्ष आधिकारिक या राजनयिक पासपोर्ट के साथ आधिकारिक यात्रा पर हैं तो उसका प्रोटोकॉल होता है और उनके साथ उसी के अनुरूप प्रक्रियाएं अपनायीं जातीं हैं लेकिन अगर कोई राष्ट्राध्यक्ष या शासनाध्यक्ष निजी पासपोर्ट पर निजी यात्रा पर आता है तो उसे उसी प्रकार की प्रक्रियाओंं से गुज़रना पड़ता है जैसे किसी सामान्य नागरिक को।

इस मौके पर अमेरिकी दूतावास के कांउसल जनरल जॉर्ज एच. होगमैन भी मौजूद थे।
उल्लेखनीय है कि कुछ अंतरराष्ट्रीय मीडिया रिपोर्टों में दावा किया गया है कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शाहिद खकान अब्बासी की पिछले दिनों न्यूयॉर्क हवाई अड्डे पर सख्त तलाशी ली गई।

श्री अब्बासी वहां निजी दौरे पर गये थे। पाकिस्तान के टीवी चैनल्स पर इस जांच का एक वीडियो भी जारी किया गया है जिसमें दिख रहा है कि पाकिस्तानी प्रधानमंत्री की तलाशी ली जाती है। इसके बाद वह अपनी टीशर्ट और बेल्ट दुरुस्त करते हैं और फिर काउंटर पर रखा कोट और बैग उठाकर चले जाते हैं।

इससे पहले सितंबर 2011 में न्यूयार्क के जॉन एफ कैनेडी हवाई अड्डे पर पूर्व राष्ट्रपति ए पी जे अब्दुल कलाम को दो बार सघन सुरक्षा जांच से गुजरना पड़ा था। पहली बार तो उनकी सामान्य तरीके से जांच की गई मगर दूसरी बार में एयर इंडिया के विमान के अंदर जबरन उनकी तलाशी ली गई थी। भारत के कड़े विरोध के बाद अमेरिका ने इसके लिए माफी मांगी थी और अपने अधिकारी को हटा भी दिया था।

Related Posts: