मुख्यमंत्री चौहान ने होमगार्ड सैनिक सम्मेलन को किया संबोधित

भोपाल,

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि सिंहस्थ के दौरान सेवायें देने वाले 2790 अस्थाई होमगार्ड के जवानों को होमगार्ड की नियमित सेवा में शामिल किया जायेगा. इस संबंध में केबिनेट में निर्णय हो गया है.

इन जवानों को 20 हजार 700 रूपये प्रति माह वेतन दिया जायेगा. इस पर वर्ष भर में 75 करोड़ रूपये व्यय होगा. मुख्यमंत्री चौहान रविवार को मुख्यमंत्री निवास पर आयोजित होमगार्ड सैनिक सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे. कार्यक्रम में गृह मंत्री भूपेन्द्र सिंह उपस्थित थे.

मुख्यमंत्री चौहान ने इन जवानों को उज्जवल भविष्य की शुभकामनायें देते हुये कहा कि वे अब मध्यप्रदेश की जनता की बेहतर सेवा का संकल्प लें. पूरी क्षमता और ताकत से मध्यप्रदेश के नवनिर्माण में योगदान करें. जो भी काम मिले उसे पूरी दक्षता और प्रामाणिकता से करें. अपनी सेवा से नया इतिहास रचें. सिंहस्थ को सुव्यवस्थित रूप से करवाने में मध्यप्रदेश की पुलिस का अतुलनीय योगदान रहा है. होमगार्ड के सैनिकों ने भी इसमें निष्काम सेवा की है.

कार्यक्रम में पुलिस महानिदेशक होमगार्ड महान भारत सागर ने अभिनंदन-पत्र का वाचन किया. होम गार्ड के जवानों ने मुख्यमंत्री को अभिनंदन.पत्र भेंट किया तथा साफा पहनाकर उनका स्वागत किया. कार्यक्रम में अपर मुख्य सचिव गृह केके सिंह और पुलिस महानिदेशक ऋषि कुमार शुक्ला सहित वरिष्ठ पुलिस अधिकारी तथा बड़ी संख्या में होमगार्ड के जवान उपस्थित थे. अंत में आभार प्रदर्शन आईजी होमगार्ड केव्ही वैंकटेश्वर राव ने किया.

मनचलों का जुलूस निकाला जाये

मुुख्यमंत्री चौहान ने अधिकारियों को स्पष्ट कहा है कि गुण्डे और अपराधियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाये. उन्होंने कहा है कि बेटियों के साथ छेड़छाड और दुव्र्यवहार करने वाले मनचलों का जुलूस निकाला जाये. उन्होंने कहा कि मुझे अपराधियों के विरूद्ध कठोर एक्शन, एक्शन और केवल एक्शन चाहिये, हर हाल में परिणाम चाहिये. परिणाम नहीं देने वाले एसपी और आईजी को हटा दिया जायेगा. उन्होंने कहा कि हर जगह पुलिस की सक्रियता दिखाई दे, जिससे नागरिकों में सुरक्षा का भाव पैदा हो.

Related Posts: