menaka1नई दिल्ली,  दिल्ली में हुए दुष्कर्म के दोषी किशोर की अलगे महीने होने वाली रिहाई से चिंचित केन्द्रीय मंत्री गांधी ने इस मामले पर अपनी चिंता जाहिर की। 15 दिसंबर को होने वाली रिहाई के बाद इस पर कड़ी पैनी नजर रखने की वकालात की है। अपनी इस प्रतिक्रिया में मेनका गांधी ने कहा कि उसे इसलिए रिहा किया जा रहा है क्योंकि कानून का यह तकाजा है। वह अपराध करते समय एक किशोर था।

उन्होंने कहा कि हमें कानून के साथ न्याय को लेकर भ्रमित होने की जरूरत नहीं है। कानून कहता है कि वह सिर्फ बाल गृह जा सकता है। यह एक विसंगति है जिसे हम सही करने का प्रयास कर रहे हैं। चूंकि उसने अपनी सजा पूरी कर ली है। कानून के मुताबिक वह बाहर आने जा रहा है और हम तब तक कुछ नहीं कर सकते, जब तक कि वह कोई दूसरा अपराध नहीं करता है। मेनका ने कहा कि उस व्यक्ति पर कड़ी नजर रखी जानी चाहिए। हम उसे ऐसे ही नहीं छोड़ सकते हैं कि वह कोई दूसरा अपराध करे।

Related Posts: