pranabनयी दिल्ली,  राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने मेडिकल कॉलेजों में दाखिले के लिए राष्ट्रीय पात्रता-प्रवेश परीक्षा (नीट) के आयोजन को एक वर्ष तक स्थगित करने संबंधी अध्यादेश पर आज हस्ताक्षर कर दिए। नीट के आयोजन से मेडिकल की पढाई के लिए छात्र विभिन्न सरकारी तथा निजी मेडिकल कालेजों में एमबीबीएस तथा दंत चिकित्सा पाठ्यक्रमों के लिए एक साथ प्रवेश परीक्षा दे सकेंगे।

सूत्रों ने बताया कि इस अध्यादेश को राष्ट्रपति ने अपनी मंजूरी प्रदान कर दी है। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री जे पी नड्डा ने कल शाम राष्ट्रपति को इस अध्यादेश के बारे में अवगत कराया था और उन्हें राज्य बोर्डों की विभिन्न परीक्षाओं, पाठ्यक्रमों और क्षेत्रीय भाषाओं से जुड़े मुद्दे के तीन पहलुअों की जानकारी दी थी।

श्री नड्डा ने हाल में एक बैठक में राज्य के स्वास्थ्य मंत्रियों के विचार सुने थे। केन्द्रीय मंत्रिमंडल ने इस बारे में अध्यादेश लाने को शुक्रवार को मंजूरी दी थी। इससे पहले उच्चतम न्यायालय ने अपने आदेश में कहा था कि नीट के दायरे में सभी सरकारी कॉलेज, डीम्ड विश्वविद्यालय और निजी मेडिकल कालेज आएंगे। न्यायालय के इसी आदेश को टालने के लिए सरकार ने अध्यादेश लाने का फैसला किया था।