sushil_modiपटना,  भारतीय जनता पार्टी :भाजपा: के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी ने आज आरोप लगाया कि कानून को अपना काम करने देना चाहिए कि अक्सर बात करने वाले बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार दिल्ली सरकार से जुड़े एक अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई के लिए केन्द्रीय जांच ब्यूरो :सी0बी0आई0: की तारीफ करने के बजाये आरोपी को राजनीतिक
संरक्षण दे रहे हैं।

श्री मोदी ने सोशल नेटवर्किंग साइट ट्वीटर पर ट्वीट कर कहा कि तीन हजार फोन काल की रिकार्डिंग और 50 अफसरों से मिले सबूत के बावजूद क्या किसी भ्रष्ट अफसर के खिलाफ केवल इसलिए छापे नहीं मारे जाने चाहिए कि उसे एक मुख्यमंत्री ने अपना प्रधान सचिव बना लिया है ।

उन्होंने कहा कि इस मामले में भी कानून को अपना काम करने देना चाहिए, लेकिन दुर्भाग्यवश, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सीबीआई की तारीफ करने के बजाये आरोपी को राजनीतिक संरक्षण दे रहे हैं।

भाजपा नेता ने कहा कि शिक्षक भर्ती घोटाले में जेल की सजा काट रहे हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री ओम प्रकाश चौटाला, चारा घोटाले में सजायाफ्ता राष्ट्रीय जनता दल :राजद: के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव और शारदा चिट फंट घोटाले के आरोपियों से घिरी पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से दोस्ती निभाने वाले श्री नीतीश कुमार अब दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का साथ दे रहे हैं । उन्होंने कहा कि श्री कुमार बतायें कि क्या सरकारिया आयोग ने केंद्र-राज्य संबंध को बेहतर बनाने के लिए किसी मुख्यमंत्री के दागी अफसर को कानून से ऊपर रखने की भी सिफारिश की है ।

श्री मोदी ने आगे ट्वीट कर कहा .. अरविंद केजरीवाल ने अन्ना हजारे के मंच का इस्तेमाल कर ईमानदारी का चोला पहना । बच्चों की कसम खाकर उस चोले का रंग गाढा किया और जब झांसे में आकर दिल्ली की जनता ने उन्हें अपार बहुमत दे दिया, तब उन्होंने चोला फाड़ना-उतारना शुरू किया। पहले उनके मंत्री आरोपों में फंसे, फिर अफसर । उन्होंने दंतहीन और विवादास्पद लोकपाल बिल को पास कराया ..।

भाजपा नेता ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री केजरीवाल ने भ्रष्टाचार के 13 साल पुराने मामले में आरोपी आईएएस अधिकारी को प्रधान सचिव बनाया । उन्होंने कहा कि 20 नवंबर को पटना आकर उन्होंने श्री नीतीश कुमार के शपथ ग्रहण समारोह में श्री लालू प्रसाद यादव से गले मिलकर ईमानदारी का तार – तार हुआ चोला भी उतार फेंका और प्रधानमंत्री के प्रति अपशब्द बोलने का गुरुमंत्र ले लिया..।