nepalकाठमांडू/नयी दिल्ली,   नेपाल सरकार ने भारत में अपने राजदूत दीप कुमार उपाध्याय को देशहित में काम नहीं करने और असहयोगपूर्ण रवैये के आरोप में वापस बुलाने का निर्णय लिया है।

‘हिमालयन टाइम्स’ में प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली की अध्यक्षता में आज हुई मंत्रिमंडल की बैठक में श्री उपाध्याय को वापस बुलाने का फैसला किया गया। राष्ट्रपति विद्या देवी भंडारी का भारत दौरा रद्द करने के संबंध में श्री उपाध्याय की सुबह श्री ओली से बात हुई थी। बताया जाता है कि दौरा रद्द किए जाने के संबंध में श्री उपाध्याय को जानकारी नहीं दी गई थी और उन्होंने राष्ट्रपति का दौरा रद्द किए जाने के मुद्दे पर अपनी नाखुशी जाहिर की थी।

Related Posts:

हमें क्रिकेट कूटनीति पसंद है: अमेरिका
पाकिस्तान ने हाफिज को आतंकी माना, लश्कर-जमात की कवरेज बैन
महाभियोग पर बोलीं ब्राजील की राष्ट्रपति, मैं इस्तीफा नहीं दूंगी
बगदाद में आईएस के धमाकों में कम से कम 77 लोगों की मौत
75 की उम्र में महान फुटबालर पेले ने की तीसरी शादी
ओबामा प्रशासन ट्रंप को कमजोर करने की कोशिश में : पुतिन