nepalकाठमांडू, 11 जून. नेपाल के उत्तर पूर्वी पहाड़ी इलाके में कल रात भारी बारिश के दौरान हुए भूस्खलन की चपेट में आने से 6 गांव उसके नीचे दब गये। जिस समय भूस्खलन हुआ उस समय लोग अपने घरों में सो रहे थे। तापलेजंग जिले में भारी बारिश के बाद हुए भूस्खलन में 51 लोगों की मौत हो गई, जबकि 80 लोग घायल हो गए। कांतिपुर न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार, पुलिस ने बताया कि अब तक सिर्फ पांच मृतकों की पहचान हो पाई है।

जिला प्रशासन ने बताया कि लिवांग, थोकलिंग, थिंगलाबु और लिंगकेट गांव भूस्खलन से सबसे ज्यादा प्रभावित हुए हैं और मृतकों की संख्या बढ़ सकती है। पुलिस ने बताया कि नेपाल में बुधवार से हो रही तेज बारिश और बाढ़ के कारण बचाव कार्य भी बाधित हो रहे हैं।

तापलेजंग के सहायक मुख्य जिला अधिकारी सुरेंद्र प्रसाद भट्टरई ने कहा, अब तक 16 लोगों के शव बरामद किए गए हैं और हमें बताया गया है कि भूस्खलन में 50 और लोग मारे गए हैं। जिले के लिवांग, थोकलिंग, थिंगलाबु और लिंगकेट गांव भूस्खलन से सबसे ज्यादा प्रभावित हुए हैं। पुलिस ने बताया कि मृतकों की संख्या बढ़ सकती है।

Related Posts: