07pic5नई दिल्ली. लेखिका नयनतारा सहगल ने केंद्र सरकार पर देश की सांस्कृतिक विविधता कायम न रख पाने का आरोप लगाते हुए उन्हें मिला साहित्य अकादमी पुरस्कार लौटा दिया है. 88 साल की नयनतारा पूर्व प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू की भांजी हैं.

उन्हें ये पुरस्कार 1986 में आए उनके उपन्यास रिच लाइक अस के लिए दिया गया था. नयनतारा ने कहा वो सभी भारतीय जो मारे गए, उनकी याद में, वो सभी भारतीय जिन्होंने असहमति के अधिकार के लिए संघर्ष किया और आज भय और अनिश्चितता के माहौल में जी रहे हैं, उनके समर्थन में मैं अपना साहित्य अकादमी अवॉर्ड लौटा रही हूं.

Related Posts: