gurdaspur110 घंटे मुठभेड़, तीन आतंकी ढेर, एसपी समेत पांच पुलिसकर्मी तथा तीन नागरिक शहीद,

दीनानगर (पंजाब). 27 जुलाई. पंजाब में गुरदासपुर के दीनानगर पुलिस चौकी में घुसे आतंकवादियों के साथ दस घंटे से अधिक चली मुठभेड़ समाप्त हो गयी है तथा इसमें तीन आतंकवादी मारे गये हैं. इस मुठभेड़ में पुलिस अधीक्षक सहित पांच पुलिसकर्मी तथा तीन नागरिक भी शहीद हो गये .

भारत सरकार ने कहा है कि वह ऐसे हमलों का मुंहतोड़ जवाब देगी. साथ ही सरकार ने सभी टेलीविजन चैनलों से भी कहा है कि वे हमलावरों के खिलाफ जारी अभियान का सीधा प्रसारण न करें. पंजाब में लगभग दो दशक बाद यह कोई बड़ा आतंकवादी हमला है. आतंकवादी सेना की वर्दी में थे. आतंकवादी सड़क किनारे एक ढाबा मालिक की हत्या कर उसकी कार में दीनापुर के बस स्टैंड पहुंचे और वहां जम्मू जाने वाली बस पर गोलीबारी करने के बाद थाने का रुख किया.

आतंकवादी सुबह करीब 5.30 बजे थाने के भीतर घुस गए, जहां से वे निरंतर गोलीबारी कर रहे हैं. सुरक्षा बल बाहर से उनका मुकाबला कर रहे हैं.
अधिकारियों ने कहा कि दोनों ओर से जारी गोलीबारी में पुलिस अधीक्षक बलजीत सिंह शहीद हो गए. उन्हें मुठभेड़ के दौरान सिर में गोली लगी, जिसमें वह गंभीर रूप से जख्मी हो गए थे और अस्पताल में इलाज के दौरान उन्होंने दम तोड़ दिया. एक पुलिस अधिकारी ने बताया, वे हर पांच मिनट के अंतराल पर ताबड़तोड़ गोलीबारी कर रहे थे. मुझे कंधे में गोली लगी.

माना जा रहा है कि आतंकवादी पाकिस्तान सीमा की ओर से आए हैं. पंजाब में गुरदासपुर जिले का दीनानगर शहर जम्मू और कश्मीर की सीमा से सटा है और यह भारत-पाक सीमा से भी कुछ ही दूरी पर है. हमले के कुछ ही देर बाद नई दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वरिष्ठ मंत्रियों के साथ बैठक की.

Related Posts: