30molestचंडीगढ़/नई दिल्ली. पंजाब के मोगा में डिप्टी सीएम सुखबीर सिंह बादल की बस में मां और बेटी के साथ पहले छेडख़ानी हुई। विरोध करने पर बस के स्टाफ ने उन दोनों के साथ मारपीट की और फिर उन्हें चलती बस से फेंक दिया गया। 14 साल की नाबालिग लड़की की मौके पर ही मौत हो गई जबकि उसकी मां को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया है। कांग्रेस सांसद रवनीत सिंह ने प्रश्नकाल रोककर लोकसभा में इस घटना पर चर्चा की मांग की।

पंजाब कांग्रेस के प्रभारी शकील अहमद ने इस मामले तुरंत कार्रवाई करने की मांग की है।

मोगा में जिस बस में इतनी भीषण वारदात को अंजाम दिया गया है वह ऑर्बिट कंपनी की है और इसके स्वामी पंजाब के डिप्टी सीएम सुखबीर सिंह बादल हैं। आरोपी बस ड्राइवर और कंडक्टर दोनों फरार हैं। घटना के करीब 12 घंटे बाद पुलिस ने गुरुवार सुबह हत्या का मामला किया।

 

Related Posts:

भारत ने किया क्लीन स्वीप
उत्तराखंड मामले पर नहीं चल सकी राज्यसभा की कार्यवाही
केजरीवाल के कड़वे बोल नहीं चलेगा दोगलापन
भारत की एनएसजी सदस्यता का मुद्दा सियोल के एजेंडे में नहीं : चीन
नेपानगर विधानसभा उपचुनाव : भाजपा की मंजू दादू ने कांग्रेस प्रत्याशी को हराया
सैनिकों को मानकों के अनुसार दिया जाता है भोजन : रक्षा मंत्री