परीक्षा पर्यवेक्षक बन साले को नकल करा रहा था जीजा

नवभारत न्यूज सागर,

प्रदेश में लाखों अभ्यर्थियों के चलते चर्चाओं में आई पटवारी परीक्षा में एसव्हीएन विवि में दो मुन्नाभाईयों को पुलिस ने धर दबोचा। विवि का पूर्व अतिथि शिक्षक परीक्षा पर्यवेक्षक बनकर अपने साले को नकल करा रहा था।

प्रदेश सहित देश भर में चर्चाओ में आई पटवारी परीक्षा में पहले दिन जहां सर्वर फेल होने के कारण सैकडो विद्यार्थी पहले पारी की परीक्षा नहीं दे सके तो दूसरी पारी में परीक्षा सेंटर में बनाए गए एसव्हीएन विवि मे ंपरीक्षा में नकल करते एक अभ्यर्थी को पकडा गया।

सिविल लाईन थाना प्रभारी संगीता सिंह से मिली जानकारी के अनुसार परीक्षा सेंटर बनाए गए एसव्हीएन में छतरपुर निवासी दयाराम प्रजापति भी परीक्षा दे रहा था। इसी केंद्र में उसका जीजा अरविंद प्रजापति इन विजिलेटर था।

पुलिस के अनुसार दयाराम को नकल कराते हुए परीक्षा सेंटर के सुपरिटेंडेंट राकेश भाटिया ने पकडा। उन्होंने ही पुलिस को सूचना दी जिस पर पुलिस ने दोनो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

थाना प्रभारी संगीता सिंह के अनुसार आरोपी अरविंद पूर्व में एसव्हीएन विवि में अतिथि शिक्षक के रूप में कार्य कर चुका है। इसी आधार पर उसे इस परीक्षा में पर्यवेक्षक बनाया गया था।

थाना प्रभारी ने बताया कि दोनों आरोपियों के खिलाफ परीक्षा अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है। उन्होंने बताया कि दोनों को पुलिस अभिरक्षा में लेकर पूछताछ की जा रही है कि नकल के इस कार्य में सेंटर बनाए गए संस्था के कुछ और लोग तो लिप्त नहीं है।

पीईबी द्वारा आयोजित पटवारी परीक्षा में आज दूसरे दिन भी शहर के कुछ सेंटरों पर परीक्षार्थियों को परेशानी का सामना करना पडा।नरसिंहपुर रोड स्थित एक निजी कालेज में करीब एक दर्जन परीक्षार्थी पहचान न मिलने के कारण परीक्षा देने से वंचित रहे। तो वहीं कुछ अन्य सेंटरेां पर भी परीक्षार्थियों को दिक्कत हुई।

Related Posts: