gujrat2हिंसा, तोडफ़ोड़ और आगजनी की घटनाओं के बाद अहमदाबाद में आज सेना बुला ली गयी। गांधीनगर तथा अहमदाबाद में पहले से मौजूद यूनिटों के सैन्यकर्मियों को ही इस काम में लगाया गया है। कुछ ही देर बाद सेना शहर में फ्लैग मार्च करेगी। राज्य में आज ही अर्द्धसैनिक बलों की 31 कंपनियां भी भेजी गई हैं। गुजरात में 2002 में हुए दंगों के बाद यह पहला मौका है जब सेना बुलायी गयी है। पटेल समुदाय के लिए आरक्षण की मांग को लेकर पिछले कुछ दिनों से राज्य में

जनआंदोलन चलाया जा रहा है। इस दौरान कल अहमदाबाद में एक विशाल रैली हुयी थी। इसके बाद रात में अचानक हिंसा भडक उठी। इसके मद्देनजर अहमदाबाद में मुख्यमंत्री के विधानसभा क्षेत्र घाटलोडिया समेत नौ क्षेत्रों तथा उनके गृह जिले पाटन के अलावा सूरत ,महेसाणा और मोरबी में कर्फ्यू लगा दिया गया। पांज जिलों के कुल 17 इलाको में कर्फ्यू लगाया गया है। कल रात से हुई हिंसा में पांच पुलिसकर्मी गंभीर रूप से घायल हुए है जबकि अहमदाबाद के वस्त्राल इलाके में देर रात उग्र भीड पर पुलिस फायरिंग में दो लोगों की मौत हुई है।

Related Posts: