वाशिंगटन,  भारत और अमेरिका ने एक संयुक्त वक्तव्य जारी कर आतंकवाद को प्रश्रय देने वालों के लिए सख्त संकेत देते हुए कट्टर इस्लामी आतंकवाद को मूल रूप से नष्ट करने का संकल्प लिया है। संयुक्त वक्तव्य में भारत और अमेरिका ने पाकिस्तान को 26/11 और पठानकोट हमले के साजिशकर्ताओं के खिलाफ मुकदमा चलाने के लिए कहा है।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने पाकिस्तान को यह सुनिश्चित करने के लिए कहा कि उसके क्षेत्र का उपयोग अन्य देशों पर आतंकवादी हमलों को अंजाम देने के लिए नहीं किया जाए। इससे पहले भारत और अमेरिका के प्रतिनिधिमंडल स्तर की बातचीत के बाद एक संयुक्त बयान में श्री ट्रम्प ने कहा, “भारत और अमेरिका दोनों आतंकवाद से बुरी तरह प्रभावित हैं और हम कट्टर इस्लामिक आतंकवाद को जड़ से मिटाने का संकल्प लेते हैं।”

Related Posts: