बेटे को ढूंढ़ने निकला था

नवभारत न्यूज भोपाल,

हबीबगंज इलाके में देर रात बस ड्राइवर की लाश मिलने से सनसनी फैल गई. मृतक अपने बेटे को खोजने के लिए घर से निकला हुआ था. पुलिस का कहना है कि मृतक की सिर से कुचलकर हत्या की गई है. पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है.

पुलिस के मुताबिक महिपाल सिंह उइके उम्र 45 वर्ष सपरिवार सांईबाबा नगर में रहता था. वह मिनी बस पर ड्राइवरी करता था. गुरूवार को वह बस खड़ी कर मालिक से पैसे लेकर शाम को घर पहुंचा तो उसका बड़ा बेटा नवीन घर पर नहीं था.

बताया जा रहा है कि खाना खाने के बाद वह अपने बेटे को खोजने के लिए निकल पड़ा. देर रात उसकी लाश पारस सिटी के पास मिली. मृतक की पहचान उसके पास मिले दस्तावेजों से हुई. पुलिस के मुताबिक मृतक के सिर पर पत्थरों से हमला किया गया है, जिससे उसकी मौत हो गई.

पुलिस का कहना है कि अभी ऐसे कोई साक्ष्य सामने नहीं आए हैं, जिनसे घटना के बारे में कोई जानकारी मिल सके. पुलिस को पड़ताल में यह भी सामने आया है कि मृतक सुबह से ही घर से बस पर चला जाता था और देर शाम तक घर लौटता था, जिसके चलते उसका किसी से कोई विवाद भी नहीं था.

आखिरी बार पत्नी से की बात

पुलिस के मुताबिक मृतक ने रात्रि 11.30 बजे अपनी पत्नी से मोबाइल पर बातचीत की, इसके बाद से कुछ देर बाद उसकी हत्या हो गई. पुलिस का कहना है कि हो सकता है कि मृतक ने देशी कलारी के पास शराब पी हो और किसी से उसका झगड़ा हो गया जिसके चलते उसकी हत्या कर दी गई.

करीबी पर हत्या की आशंका

पुलिस सूत्रों की मानें तो जिस तरह से चालक की हत्या हुई है, उससे पुलिस का शक गहराता जा रहा है. पुलिस को आशंका है कि किसी परिचित ने ही उसको मौत के घाट उतारा है. पुलिस के मुताबिक देर रात्रि में मृतक का बेटा जिस रास्ते से आ रहा था, वहीं पर मेहताब की हत्या हुई थी. पुलिस का कहना है कि सभी बिंदुओं को ध्यान में रखकर जांच की जा रही है.

Related Posts: