मृतका के साथ देवर ने किया था रेप

भोपाल,

रेप पीडि़ता पत्नी का अंतिम संस्कार करके घर आने के बाद पति ने भी फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. फिलहाल पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरु कर दी है.

छोला मंदिर थाना टीआई पंकज द्विवेदी के मुताबिक विवेक हिंडोलिया छोला मंदिर थाना छेत्र के शिवनगर में अपनी पत्नी रीटा और 5 साल की बच्ची के साथ रहता था. वह लक्ष्मी टाकिज के पास एक मोबाइल की दुकान में काम करता था.

शनिवार रात 11 बजे जब वह घर पहुंचा तो घर का दरवाजा अंदर से बंद था. कई बाद खटखटाने के बाद भी जब कोई आहट नहीं हुई तो उसने अपने साले को फोन करके बुलाया. दोनों ने दरवाजा तोडक़र अंदर देखा तो पत्नी रीटा फांसी पर ढूल रही थी. आनन-फानन में वह लोग रीटा को लेकर एक निजी अस्पताल में पहुंचे जहां डाक्टरों ने रीटा को मृत घोषित कर दिया.

इस दौरान मृतका की बेटी सुबह से ही लक्ष्मी टाकिज पर रहने वाले अपने दादा-दादी के घर गई हुई थी.
पुलिस को मृतका के पास से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला. छोलामंदिर पुलिस ने मर्ग कायम कर जांच शुरु कर दी थी. इधर दूसरे दिन सुबह, पत्नी का अंतिम संस्कार करनेके बाद पति विवेक अपने शिवनगर वाले घर नहीं पहुंचा तो उसकी बहन को चिंता हुई. उसने भाई को मोबाइल पर फोन करके जानकारी चाही, जिसपर भाई विवेक ने बताया कि वह लक्ष्मी टाकिज वाले घर आ गया है जहां वह नहा धोकर और एक घंटे सोने के बाद शिवनगर वाले घर पहुंच जाएगा.

शाम को साढ़े 5 बजे तक भाई के घर नहीं पहुंचने और मोबाइल रिसीव नहीं करने पर परिजनों को गड़बड़ी की आशंका हुई. सभी लोग लक्ष्मी टाकिज वाले घर पहुंचे. जहां दरवाजा अंदर से बंद था. दरवाजा तोडक़र देखा तो विवेक हिंडोलियों साड़ी को फंदा बनाकर पंखे के कुंदे से झूल चुका था.

परिजन उसे लेकर हमीदिया अस्पताल पहुंचे लेकिन तब तक उसकी मौत हो चुकी थी. हनुमानगंज थाने के एसआई बाबूजी माथुर ने बताया कि जनवरी माह में मृतका रीटा के साथ उसके देवर ने रेप कर दिया था. तभी से पति विवेक अपनी पत्नी रीटा और बच्ची के साथ छोला इलाके के शिवनगर में रहने चला गया था.

फिलहाल पुलिस दोनों मामलों की जांच कर रही है. पुलिस को दोनों ही मृतकों के पास से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है. पुलिस के कहना है कि पत्नी के आत्महत्या करने के बाद सदमें में पति ने भी फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली.

Related Posts: