फिल्म की रिलीज आज

  • उपद्रवियों ने लगाया जाम, वाहन फूंके
  • मुंबई में 35, अहमदाबाद में 44 गिरफ्तार, मथुरा में ट्रेन रोकी
  • दिल्ली-जयपुर हाइवे भी जाम
  • मध्य प्रदेश में भी विरोध-प्रदर्शन
  • हरियाणा, यूपी, राजस्थान में भी हिंसक प्रदर्शन

नई दिल्ली,

संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावत गुरुवार को रिलीज होनी है, लेकिन उसका विरोध थमने का नाम नहीं ले रहा है. उपद्रवी लगातार हिंसक घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं.

मंगलवार को गुजरात में हुई आगजनी और तोडफ़ोड़ की घटनाओं के बाद बुधवार को हरियाणा, यूपी और राजस्थान में भी कुछ जगहों पर हिंसक प्रदर्शन हुए उपद्रवियों ने कई सडक़ों पर जाम लगा दिया और बसों में आग लगा दी. मध्य प्रदेश में भी करणी सेना ने विरोध-प्रदर्शन किया.

प्रदर्शनकारियों ने गुरुग्राम के वजीरपुर-पटौदी रोड पर जमकर आगजनी की दिल्ली-जयपुर हाइवे को भी जाम कर दिया गया. लोगों ने गुरुग्राम के सोहना रोड पर भी प्रदर्शन किया और पत्थरबाजी की. उन्होंने इस दौरान एक बस को आग के हवाले कर दिया. हरियाणा के यमुनानगर से भी हंगामे की खबरें हैं. यहां एक सिनेमाहॉल के बाहर करणी सेना ने बवाल किया.

यूपी में मेरठ के पीवीएस मॉल में पद्मावत के विरोध में पथराव किया गया. मॉल के बाहर पुलिस की तैनाती कर दी गई है और मामले की जांच की जा रही है. यूपी के मथुरा में पद्मावत के खिलाफ प्रदर्शनकारियों ने ट्रेन रोकी. उधर मध्य प्रदेश के होशंगाबाद में भी करणी सेना के सदस्यों ने विरोध-प्रदर्शन किया.

राजस्थान में चितौडग़ढ़ किले के नजदीक पद्मावत के खिलाफ प्रदर्शन हुआ. जम्मू के इंद्रा सिनेमा के टिकट काउंटर पर पत्थर फेंक कर वहां के कांच तोड़ दिए गए.

मुंबई में राजपूत करणी सेना के 35 समर्थकों को पुलिस ने हिरासत में लिया है. अहमदाबाद में भी 44 लोगों को हिरासत में लिया गया है. उधर राजस्थान में करणी सेना के चितौडग़ढ़ चीफ को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. इस बीच करणी सेना ने फिर से धमकी दी है कि वह फिल्म रिलीज नहीं होने देगी.

फिल्म पर उपजे विवाद और हिंसक हो चुके विरोध के बीच करणी सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष लोकेंद्र सिंह कालवी मीडिया के सामने आए. कालवी ने माना कि फिल्म का हिंसक विरोध कर रहे लोग करणी सेना के कार्यकर्ता हैं.

प्रदर्शन करने आये नेता की कार को ही कर दिया आग के हवाले

फिल्म ‘पद्मावत’ को लेकर गतिरोध थमने का नाम नहीं ले रहा. बुधवार को लोगों ने डीबी मॉल व ज्योति टॉकीज के सामने उग्र प्रदर्शन किया. रोचक बात यह रही कि करणी सेना के कार्यकर्ताओं ने अपने नेता की कार को ही आग के हवाले कर दिया.

फिल्म ‘पद्मावत’ कल 25 जनवरी गुरुवार को रिलीज होना है. इससे पहले फिल्म के विरोध में कई संगठन सामने आ गये हैं. बुधवार को सबसे पहले राष्ट्र  बचाओ मंच के नेता पंडित चंद्रशेखर के नेतृत्व में दोपहर बाद डीबी मॉल के सामने प्रदर्शन किया, जहां तैनात पुलिस ने उन्हें समझाइश देकर रवाना कर दिया.

शाम करीब पांच बजे करणी सेना के कथित कार्यकर्ता भगवा ध्वज लेकर ज्योति टॉकीज पर पहुंच गये, जहां हंगामा शुरू हो गया. जब पुलिस प्रदर्शनकारियों को खदेड़ रही थी, उसी समय किसी ने सडक़ पर खड़ी स्विफ्ट कार एमपी 04-एचसी-9653 को आग के हवाले कर दिया.

यह गाड़ी करणी सेना के सुरेंद्र सिंह चौहान के नाम रजिस्टर्ड है. गाड़ी जलने की सूचना पर फायर ब्रिगेड बुलाई गई लेकिन तब तक वाहन पूरी तरह से जल चुका था. यहां पुलिस को हल्का बल प्रयोग भी प्रदर्शनकारियों को खदेडऩे के लिये करना पड़ा.

इन 4 राज्यों में नहीं होगी स्क्रीनिंग

फिल्म पद्मावत को लेकर हो रहे हिंसक प्रदर्शनों को देखते हुए मल्टिप्लेक्स असोसिएशन ऑफ इंडिया ने कहा कि इसके मेंबर्स राजस्थान, गुजरात, मध्य प्रदेश और गोवा में फिल्म की स्क्रीनिंग नहीं करेंगे. यह असोसिएशन देश के करीब 75 फीसद मल्टिप्लेक्स ओनर्स को रेप्रिजेंट करता है. यह फैसला देशभर में हो रही तोड़-फोड़ और सिनेमाघर के मालिकों को मिल रही धमकी को देखते हुए लिया गया है.

फिल्म 25 तारीख को रिलीज हो रही है.

असोसिएशन के अध्यक्ष दीपक का कहना है, हमने राजस्थान, गुजरात, मध्यप्रदेश और गोवा राज्यों में यह फिल्म न दिखाने का फैसला लिया है क्योंकि लोकल मैनेजमेंट ने हमें बताया है कि यहां इतनी कानूनी सहायता नहीं मिल पाएगी. उन्होंने बताया, हमारे लिए दर्शकों की सुरक्षा पहले जरूरी है.

माहौल को देखते हुए हम पहले देखेंगे कि यहां माहौल ठीक है या नहीं तभी फिल्म चलाई जाएगी. चीजें बदल सकती हैं लेकिन हम पहले लोगों की सुरक्षा देख रहे हैं. उन्होंने बताया कि जिन राज्यों में फिल्म दिखाई जाएगी वहां पुलिसवालों के साथ प्राइवेट सिक्यॉरिटी गाड्र्स भी सिनेमा हॉल्स के बाहर रहेंगे.

” पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने पद्मावत फ़िल्म को लेकर कहा है कि फिल्मकारों को ऐसी फिल्में नहीं बनाना चाहिए, जिससे लोगों की भावना आहत हों. “

Related Posts: