naiduनयी दिल्ली,  केंद्रीय शहरी विकास मंत्री एम. वेंकैंया नायडू ने आज कहा कि शहरी क्षेत्रों में उपलब्ध परिसंपत्तियों के पुनर्विकास से जमीन की कमी से निपटा जा सकता है और आवश्यक संसाधनों की पूर्ति की जा सकती है। श्री नायडू ने यहां पूर्वी किदवई नगर के सामान्य पूल आवासीय परिसर पुनर्विकास परियोजना के तहत बने तीन भवनों का उद्घाटन करते हुए कहा कि स्मार्ट शहरों के विकास में शून्य कचरा प्रबंधन और शून्य कचरा उत्सर्जन की प्रमुख भूमिका होगी। दिल्ली में सरकारी कालोनियों का पुनर्वास जीवन स्तर में सुधार और शहरी परिदृश्य बदलने की योजना का हिस्सा हैं।

उन्हाेंने किदवई नगर परियोजना को दिसंबर 2018 तक पूरा करने के निर्देश दिए। हालांकि इसके पूरा करने की अंतिम तिथि नवंबर 2019 है। इसका निर्माण राष्ट्रीय भवन निर्माण निगम कर रहा है। इस अवसर पर मौजूद केंद्रीय गृह राज्य मंत्री किरेन रिजिजू ने कहा कि नयी दिल्ली नगरपालिका परिषद् शासन का प्रमुख केंद्र हैं और यह दूसरे क्षेत्रों के लिए प्रेरणा का स्रोत है। उन्हाेंने कहा कि श्री नायडू के नेतृत्व में क्षेत्र में एक नयी परिपाटी की शुरूआत हुई है।

Related Posts: