bpl1भोपाल,  पिछले दो वर्षों से परीक्षा कराए जाने की मांग कर रहे छात्र इतने क्षुब्ध हो गए कि पानी की टंकी पर चढ़ कर उन्होंने आत्महत्या की बात कही.

उनका कहना था कि वे बरकतउल्ला विश्वविद्यालय प्रबंधन व उच्च शिक्षा विभाग के अधिकारियोंं के यहां चक्कर लगाकर परेशान हो गए, लेकिन उन्हें कोई संतोषजनक जबाव नहीं मिला. इस घटना के बाद से विवि प्रबंधन हरकत में आया और जल्द ही परीक्षा कराने का आश्वासन दिया, तब जाकर कहीं छात्र-छात्राएं पानी की टंकी से नीचे उतरे.

दरअसल पिछले दो बर्षों से बीयू बीपीएड की परीक्षाएं नहीं करा पाया है. बीयू से संबद्ध 8 जिलों के कॉलेजों के बीपीएड के लगभग 800 छात्र-छात्राएं अपनी परीक्षा का इंतजार कर रहे हैं. अब तक इनकी वर्ष 2014-15 की परीक्षा आयोजित नहीं की गई है. सत्र 2014-15 में बीयू के सभी महाविद्यालयों से उनके बीपीएड छात्रों की जानकारी उच्च शिक्षा विभाग को पोर्टल में दर्ज करने के निर्देश दिए गए थे, लेकिन निजीे कॉलेजों ने जानकारी पोर्टल में अपलोड़ नहीं की. इस वजह से परीक्षा पर रोक लगा दी गई. परीक्षा आयोजित कराई जाए या नहीं इसके लिए जांच कमेटी बनाई गई, जिसकी अभी तक जांच पूरी नहीं हुई है. इस घटना के बाद से विवि परिसर में अफरा तफरी का माहौल निर्मित हो गया. प्रबंधन ने इसकी सूचना तत्काल पुलिस को दी तथा एंबुलेंस को बुलवाया. छात्रों का कहना था कि अब उनकेे आगे कोई विकल्प नहीं रहा, इसलिए आत्महत्या ही सही रास्ता है.

Related Posts: