mp3खंडवा,   इंदिरा सागर ने खंडवा जिले की किस्मत पलट दी है। पानी से बिजली के 1600 मेगावाट वाले दो कारखानों के अलावा संत सिंगाजी थर्मल पावर भी भारी बिजली उगल रहा है। हजारों हेक्टेयर में सिंचाई हो रही है। कई इकाई प्रोसेस में हैं।

अब मुख्यमंत्री ने हनुमंतिया को पर्यटन के हिसाब से गोद ले लिया। मतलब कभी उद्योगविहीन खंडवा जिला अब देश के हजारों उद्योग बिजली से चलाएगा। करोड़ों लोगों के पेट भरने लायक खाद्यान्न उत्पादन करेगा। पर्यटन से विदेशी डालर बटोरेगा वह अलग। यहाँ के मीठे पानी की मछलियाँ कलकत्ता से विदेशों तक जा रही हैं।

पंद्रह साल पहले खंडवा जिला केवल कृषि आधारित था। कपास की रूई, काकड़े का तेल, खल्ली के अलावा सोयाबीन व बिनौले का तेल व दाल मिलें व्यापारिक केंद्र मानी जाती थीं। वे भी कांग्रेस की सरकार के टैक्स बढ़ाने के कारण पड़ौसी राज्य महाराष्ट्र के जलगांव व अन्य शहरों में चली गई थीं।

मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने मध्यप्रदेश में पर्यटन से पैसा कमाने का यह सबसे सरल तरीका खोज निकाला। मुख्यमंत्री ने हनुमंतिया गांव में पहली बार नेकलेस आकार में नीला पानी कोसों दूर तक देखा। इससे पहले वे सिंगापुर जैसे देशों में होकर ही आए थे। उन्होंने इसे डेवलप करने के आदेश दे दिए।

शिवराजसिंह चौहान ने नवभारत से चर्चा में कहा कि बड़े निवेशक यहाँ आने को तैयार हो गए हैं। उनके साथ हम फिर यहाँ आएंगे। शिवराज को यह किनारा व आसपास के टापू इतने पसंद आए कि दो घंटे भी घूमने का समय न निकाल पाने वाले मुख्यमंत्री दो दिन तक इस टापू पर ही परिवार सहित जमे रहे।

Related Posts: