एमपीएमएसयू कर रहा छात्रों के भविष्य से खिलवाड़

  • कई बार बदल चुकी परीक्षा की समय सारणी

भोपाल,

म.प्र की शिक्षा प्रणाली फिर सवालों के घेरे में है, इस बार मामला है. म.प्र चिकित्सा विज्ञान विश्वविद्यालय का, विवि ने विगत 7 अप्रैल को लाल शर्मा होम्योपैथिक कॉलेज भोपाल में बीएमएलटी प्रथम वर्ष का बायोकेमिस्ट्री का पेपर कराया.

पूरे परीक्षा पत्र में 75 से 80 प्रतिशत तक प्रश्न पाठ्यक्रम के बाहर से आये, जिसका जब छात्रों ने विरोध किया तो परीक्षा के एक घण्टे बाद विवि व्दारा दूसरा प्रश्न पत्र दिया गया, जिसमें भी पाठ्यक्रम से प्रश्र नहीं आये थे.

विद्यार्थियों का आरोप है कि प्रश्न पत्र में 75 प्रतिशत तक प्रश्न बाहर से थे, परीक्षा उपरान्त विधार्थियों ने विवि परिसर में हगांमा किया, जिसके बाद प्रबंधन के अधिकारियों व्दारा छात्रों को जांच का आश्वासन दिये जाने के बाद हंगामा शांत हुआ.

विद्यार्थियों का कहना है कि विवि एडमिट कार्ड जारी करने के उपरान्त कई बार परीक्षा की समय सारणी बदल चुका है, और विवि व्दारा प्रथम वर्ष की परीक्षायें 17 माह में ली जा रही है जो कहीं न कहीं विद्यार्थियों के भविष्य के साथ खिलवाड़ हैं. छात्रों ने जब परीक्षा नियंत्रक पुष्पराज सिंह बघेल से चर्चा की, तो बघेल व कुलपति डॉ. आरएस शर्मा ने जांच का आश्वासन दिया.

Related Posts: