nawaz1न्यूयार्क,  पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने अंतरराष्ट्रीय नेताओं से साफ तौर पर कहा है कि उनका देश अपने परमाणु कार्यक्रम पर एकतरफा नियंत्रण कभी स्वीकार नहीं करेगा। उन्होंने कहा है कि परमाणु कार्यक्रमों के मामले में एकतरफा नियंत्रण नहीं चल पायेगा अत: इसके साथ ही भारत के परमाणु कार्यक्रमों पर भी नियंत्रण पर विचार करना होगा।

संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान की स्थायी प्रतिनिधि मलीहा लोधी ने कल न्यूयार्क में संवाददाताओं से बातचीत के दौरान कहा कि उनके देश के प्रधानमंत्री ने अंतरराष्ट्रीय नेताओं कक समक्ष परमाणु मामले में पाकिस्तान की स्थिति साफ कर दी है। पाकिस्तान को यह सफाई भारत तथा पाकिस्तान के बीच युद्ध की अटकलों और उसके रक्षा मंत्री की इस चेतावनी के बीच देनी पड़ी है कि युद्ध की स्थिति में पाकिस्तान परमाणु अस्त्रों का उपयोग कर सकता है।

सुश्री मलीहा लोधी ने कहा कि परमाणु अस्त्रों पर रोक द्विपक्षीय होनी चाहिये। सुश्री लोधी ने यह बात तब कही जब संवाददाताओं ने उनका ध्यान अमेरिका के विदेश मंत्री जान कैरी की परमाणु अस्त्रों पर नियंत्रण की सलाह की ओर आकृष्ट किया गया। अमेरिका के विदेश मंत्रालय ने भी अपनी विज्ञप्ति में कहा है कि जान कैरी ने पाकिस्तान से अपने परमाणु अस्त्र कार्यक्रम पर नियंत्रण की आवश्यकता पर विचार के लिये कहा है।

Related Posts: