basitनई दिल्ली,   भारत में पाकिस्तान के उच्चायुक्त अब्दुल बासित ने कहा है कि भारत के साथ शांति प्रक्रिया स्थगित हो चुकी है. बासित का बयान पठानकोट हमलों की जांच के लिए पाकिस्तान के जांच दल के भारत दौरे को लेकर हुए विवाद के बीच आया है.

भारतीय जांच एजेंसी एनआईए के पठानकोट हमलों की जांच को लेकर पाकिस्तान का दौरा करने के सवाल पर बासित ने कहा, पाकिस्तानी जांच दल का पठानकोट दौरा पारस्परिकता के बारे में नहीं था.

उन्होंने ये भी आरोप लगाया कि पठानकोट जांच के लिए आई उनकी टीम ने कहा है कि भारत ने उनके साथसहयोग नहीं किया. यही नहीं मसूद अजहर को लेकर उन्होंने चीन के रुख का भी समर्थन किया. अब्दुल बासित का ये बयान कई मायनों में हैरान करने वाला है.

माना जा रहा था कि नवाज शरीफ और नरेंद्र मोदी की पहल ने दोनों देशों के बीच बातचीत मुमकिन की है. प्रधानमंत्री मोदी हाल ही में अचानक नवाज शरीफ को जन्मदिन की बधाई देने लाहौर पहुंचे. इसके बाद पहली बार ऐसा हुआ कि किसी आतंकी हमले की जांच के लिए पाकिस्तान से टीम भारत आई. लेकिन अचानक ये सिलसिला इस बयान ने बदल दिया है.

भारत लगातार कहता रहा है कि पाकिस्तान की ज्वाइंट इंवेस्टिगेशन टीम को इसी समझ के साथ पठानकोट का दौरा करने की इजाजत दी गई थी कि भारतीय जांचकर्ताओं को भी पाकिस्तान जाने की इजाजत होगी.

Related Posts: