droneइस्लामाबाद,  पाकिस्तान ने आज फिर अपने क्षेत्र में अमेरिका के ड्रोन हमलों पर आपत्ति की और इन्हें अपने देश की सम्प्रभुता तथा सुरक्षा के लिए खतरा बताते हुये बंद करने की मांग की ।

पाकिस्तान की संसद के संयुक्त अधिवेशन में राष्ट्रपति यमनून हुसैन के संबोधन के बाद आयोजित स्वागत समारोह में पाकिस्तान के सेनाध्यक्ष जनरल राहील शरीफ ने संवाददाताओं से बातचीत के दौरान अमेरिकी ड्रोन हमलों को खेदजनक बताया।

उन्होंने कहा कि अमेरिका के ड्रोन हमलों से पाकिस्तान की सम्प्रभुता तथा सुरक्षा दोनों के लिए खतरा है अत: इन्हें बंद किया जाना चाहिये । पाकिस्तान के सेनाध्यक्ष ने इससे पहले भी रावलपिन्डी में सेना के मुख्यालय में अमेरिकी राजदूत से अपनी बातचीत के दौरान कहा था कि अमेरिका के ड्रोन हमलों से पाकिस्तान के साथ उसके संबंधों पर प्रतिकूल असर पड़ सकता है।
पाकिस्तान ने अमेरिका से ड्रोन हमलों के बारे में अपनी चिन्ता बलूचिस्तान में अफगान तालिबान के प्रमुख मुल्ला अख्तर मंसूर के मारे जाने की घटना के बाद व्यक्त करनी शुरू की है।

जनरल राहील शरीफ ने चीन पाकिस्तान आर्थिक गलियारा परियोजना को राष्ट्रीय परियोजना बताया और कहा कि इसे हर हालत में पूरा किया जाना चाहिये ।
उन्होंने कहा कि आतंकवादियों के विरूद्ध पश्चिमोत्तर सीमा प्रान्त में आतंकवादियों के विरूद्ध शुरू की गयी सेना की जर्ब ए अज्ब कार्रवाई जारी रखी जायेगी और उन क्षेत्रों में, जहां से उनका सफाया किया जा चुका है, दुबारा नहीं घुसने दिया जायेगा ।

Related Posts: