vid1इस्लामाबाद,  पाकिस्तान ने अफगान तालिबान को इस महीने होने वाली शांति वार्ता में भाग नहीं लेने पर अपने यहां से निकालने की चेतावनी दी है और उधर तालिबान ने दबाव में आने इन्कार कर दिया है. तालिबान के रूख से अफगानिस्तान सरकार तथा तालिबान के बीच प्रस्तावित शांति वार्ता को लेकर संशय की स्थिति पैदा हो गयी है. पाकिस्तान के दो अधिकारियों ने यह चेतावनी अफगानिस्तान की तालिबान के उस नेतृत्व को दी है जो उसके यहां से सक्रिय है.

पाकिस्तान सरकार के अधिकारियों से बातचीत के बाद अफगान तालिबान की सर्वोच्च परिषद की बैठक दो सप्ताह पहले हुई थी जिसमें उसने शांतिवार्ता के प्रस्ताव को ठुकरा दिया था. तालिबान आतंकवादी वार्ता में भाग लेने की बजाय अब अफगानिस्तान लौट रहे हैं जहां वह अपनी आतंकवादी गतिविधियों को फिर से शुरू करने के लिए इस समय को उपयुक्त अवसर मान रहे हैं. अफगानिस्तानी तालिबान को वार्ता की मेज पर लौटने या पाकिस्तान की भूमि से निष्कासन की स्थिति झेलने की चेतावनी पाकिस्तान सरकार के दो अधिकारियों ने दी है.

Related Posts:

भारत-पाक रिश्ते में किसी चमत्कार की उम्मीद न करें
पाक के लिए भारत से संबंध नहीं बिगाड़ेगा चीन
बौखलाया चीन, अलापा परमाणु सुरक्षा का राग
पूर्व पाक प्रधानमंत्री युसूफ रजा के विरूद्ध गैर जमानती वारंट
विश्व बैंक समूह के अध्यक्ष जिम योंग किम मंगलवार को भारत की यात्रा पर आयेंगे
जापान के माउंट एसो ज्वालामुखी में विस्फोट