raza-rabbaniइस्लामाबाद, पाकिस्तानी संसद के सीनेट के प्रमुख रजा रब्बानी ने सैन्य तख्तापलट का अंदेशा जताया है। उन्होंने सरकार को चेतावनी दी है कि अगर इसे रोकने के लिए संविधान का सख्ती से पालन या इसमें जरूरी बदलाव नहीं किए गए, तो कभी भी सेना सरकार का तख्ता पलट सकती है।

इंटरनेशनल डे ऑफ डेमोक्रेसी के मौके पर रब्बानी ने एक कार्यक्रम में कल यह बात कही है। रब्बानी ने कहा, ‘केवल जनता ही लोकतंत्र की रक्षा कर सकती है।Ó उन्होंने कहा कि पाकिस्तान एक और सैन्य हस्तक्षेप का सामना नहीं कर सकता। उन्होंने कहा, ‘देश की अंदरूनी और बाहरी स्थिति को देखते हुए लोकतंत्र के अलावा कोई अन्य व्यवस्था संघ (फेडरेशन) को यथावत नहीं रख सकती।

पाकिस्तान में अंतिम सैन्य शासन परवेज मुर्शरफ का था जिन्होंने 1999 में सत्ता संभाली थी लेकिन 2008 में उन्हें इस्तीफा देने के लिए बाध्य होना पड़ा था। मुशर्रफ के खिलाफ वर्ष 2013 में घोर राजद्रोह का एक मामला दर्ज किया गया था, लेकिन सेना के दबाव के कारण उसे प्रभावी तरीके से छोड़ दिया गया। बहरहाल प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की सरकार ने मुशर्रफ को विदेश जाने की अनुमति देने से इंकार कर दिया।

Related Posts: