इस्लामाबाद,

नोबेल शांति पुरस्कार विजेता मलाला युसुफजई चार दिन के अपने पाकिस्तान दौरे के बाद आज लंदन के लिए रवाना हो गयी।वर्ष 2012 में हुए जानलेवा हमले के बाद मलाला की यह पहली पाकिस्तान यात्रा थी।

नागर विमानन विभाग के अधिकारी अकमल कयानी ने बताया कि मलाला और उनके परिवार को कड़ी सुरक्षा के बीच इस्लामाबाद हवाई अड्डे पर लाया गया और लंदन जाने वाली फ्लाइट में बिठाया गया।

गौरतलब है कि मलाला लड़कियों को शिक्षित करने को लेकर काफी प्रयासरत थी और इसी के चलते पाकिस्तानी तालिबान ने 2012 में स्कूल से घर लौटते समय मलाला के सिर में गोली मार दी थी।हमले के बाद मलाला को विमान के जरिए विदेश ले जाया गया और सिर का आपरेशन किया गया।वह गुरुवार से पाकिस्तान यात्रा पर थी और शनिवार को स्वात घाटी के अपने पुराने घर को भी देखा।

मलाला ने शुक्रवार को एक साक्षात्कार में कहा था,“ पाकिस्तान के बारे में मैं हर चीज की कमी महसूस करती हूं चाहे वे नदियां हों, पहाड़ हों या फिर गंदी सड़कें और मेरे घर के आसपास का कचरा हो।”

मलाला इस समय ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय से राजनीति, फिलॉस्फी और अर्थशास्त्र विषयों में स्नातक की पढ़ाई कर रही है और इससे पहले उनके एक पारिवारिक मित्र ने बताया था कि पढ़ाई पूरी करने के बाद उनकी अपने घर जाने की योजना है।

मलाला को 2014 में नोबेल पुरस्कार मिला था और वह विश्व की सबसे कम उम्र की नोबेल पुरस्कार विजेता बनीं थी।

Related Posts: