अपने दम पर जीतें चुनाव, कांग्रेस ने लिया यूं-टर्न, मानी मीटिंग की बात

  • फैसल ने आरोप बेबुनियाद बताए

नई दिल्ली,

गुजरात विधानसभा चुनाव में पाक के दखल के पीएम मोदी के आरोपों के बाद राजनीति तेज होने पर पाकिस्तान ने पूरे मामले से पल्ला झाड़ा है.

पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता डॉ. मोहम्मद फैसल ने ट्वीट कर गुजरात विधानसभा चुनाव में दखल देने के आरोपों पर कहा, अपनी चुनावी बहस में भारत को पाकिस्तान को घसीटना बंद करना चाहिए. साजिशों की बजाय अपने दम पर चुनावी जीत हासिल करने का प्रयास करेंगे.

ऐसे आरोप बेबुनियाद और गैरजिम्मेदाराना हैं. पीएम मोदी ने रविवार को गुजरात में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कहा था कि कांग्रेस पाकिस्तान के साथ मिलकर चुनाव लड़ रही है. मोदी ने कहा था कि कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर के घर पर पाक के पूर्व विदेश मंत्री और उच्चायुक्त के साथ कांग्रेस नेताओं की मीटिंग हुई थी. कांग्रेस ने इन आरोपों को खारिज कर दिया था.

करते हुए मीटिंग होने की बात से ही इनकार कर दिया था, लेकिन अब पूर्व आर्मी चीफ दीपक कपूर की ओर से मीटिंग होने की पुष्टि करने के बाद कांग्रेस का दावा गलत निकला है. हालांकि दीपक कपूर ने यह जरूर कहा कि इस मीटिंग में भारत और पाक के बीच संबंधों पर ही चर्चा हुई.

इसमें गुजरात चुनाव को लेकर कोई बात नहीं हुई. जबकि कांग्रेस के सीनियर लीडर आनंद शर्मा ने ऐसी किसी भी बैठक से इनकार किया था.

कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं ने राष्ट्र नीति से अलग जाकर यह बैठक की और उन्हें देश को समझाना चाहिए कि इसकी क्या जरूरत थी. जेटली ने इस दौरान शर्म-अल-शेख का भी जिक्र किया.
-अरुण जेटली, वित्त मंत्री

ये नेता और पूर्व अफसर थे बैठक में मौजूद

इस बैठक में पूर्व पीएम मनमोहन सिंह, पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी, पूर्व विदेश मंत्री नटवर सिंह, पूर्व सेनाध्यक्ष दीपक कपूर, पूर्व राजनयिक सलमान हैदर, टीसीए राघवन, शरत सभरवाल और के. शंकर बाजपेयी मौजूद थे. बाजपेयी, राघवन और सभरवाल पाकिस्तान में भारतीय उच्चायुक्त भी रह चुके हैं.

Related Posts: