sushmaइस्लामाबाद, भारत और पाकिस्तान के विदेश सचिव जनवरी में दिल्ली में मुलाकात करेंगे और समग्र द्विपक्षीय वार्ता के तौर तरीके तय करेंगे. नवाज शरीफ के विदेश मामलों के सलाहकार सरताज अजीज ने शुक्रवार को पाकिस्तानी संसद में यह जानकारी दी. हालांकि इस दौरान उन्हें विपक्ष के विरोध का सामना करना पड़ा.

विपक्षी सांसदों ने नवाज सरकार की आलोचना करते हुए उस पर एक ऐसे संयुक्त वक्तव्य पर राजी होने का आरोप लगाया था, जो उनके अनुसार भारत के हक में है. सरताज अजीज ने संसद में कहा कि सचिव समग्र वार्ता के तौर तरीके और कार्यक्रम तय करेंगे. अजीज ने संसद को हाल ही में आयोजित हार्ट ऑफ एशिया सम्मेलन के बारे में और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के साथ अपनी बातचीत के बारे में बताया, जिसमें यह फैसला किया गया कि दोनों देशों को समग्र द्विपक्षीय वार्ता करनी चाहिए. द्विपक्षीय वार्ता के तहत सुरक्षा, विश्वास बहाली उपायों, जम्मू कश्मीर, सिलचर, सर क्रीक, वुलर बैराज तुलबुल नौवहन परियोजना, आर्थिक एवं वाणिज्यिक सहयोग, आतंकवाद निरोध, मादक पदार्थ नियंत्रण, मानवीय मुद्दे पर बातचीत करेंगे.