asif-ali-zardariइस्लामाबाद, 18 जून. पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी की केन्द्रीय कार्यकारिणी ने देश की सेना के बारे में पूर्व राष्ट्रपति आसिफ जरदारी के बयान से अपने आपको अलग कर लिया है और कहा है कि यह उनकी व्यक्तिगत राय है.

एक्सप्रेस ट्रिब्यून की खबर के अनुसार पार्टी की कार्यकारिणी समिति ने एक वक्तव्य जारी कर कहा है कि पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी देश तथा उसकी सभी संस्थाओं का सम्मान करती है और उसके सह अध्यक्ष ने सेना के बारे में जो वक्तव्य दिया है वह उनकी व्यक्तिगत राय है.

श्री जरदारी ने सुरक्षा बलों के बारे में मंगलवार को कहा था कि देश के मामलों का संचालन राजनीतिक लोग अधिक अच्छे ढंग से कर सकते है. सेना के अधिकारी केवल तीन वर्ष के लिए आते हैं. उन्होंने अपनी तथा अपनी पार्टी के चरित्र हनन के प्रयास की भी निन्दा की थी. पीपीपी के सह अध्यक्ष जरदारी ने कल सेना के बारे में अपनी काफी सख्त टिप्पणी में कहा था कि सैनिक प्रतिष्ठिान को पार्टी का चरित्रहनन से बाज आना चाहिए अन्यथा वह उन जनरलों के नाम सार्वजनिक कर देगेंं जो पाकिस्तान बनने के बाद से भ्रष्टाचार के विभिन्न मामलों में शामिल रहे हैं1

श्री जरदारी के वक्तव्य से नाराज प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने उनके साथ अपनी भेंट के कार्यक्रम को रद्द कर दिया था. उन्होंने यह भी कहा था कि लड़ाई के समय इस प्रकार का वक्तव्य स्वीकार नहीं किया जा सकता . सेना के बारे में श्री जरदारी के कल की टिप्पणियों से पाकिस्तान की राजनीति में काफी गर्माहट आ गयी.

Related Posts: