bpl6भोपाल,  रविवार को जल आक्रोश पदयात्रा के दूसरे दिन सुबह बाग सेवनिया में निकली पदयात्रा में जनता ने बढ़ कर हिस्सा लिया.

आक्रोशित जनता ने बताया को नर्मदा जल के नाम पर 10000-20000 हजार के पानी के बिल अचूके है. परंतु पानी आज दिनांक तक नही पंहुचा. भाजपा और कांग्रेस ने पानी समस्या का कभी निदान नहीं किया झूठे आश्वासन देती रही दोनों सरकारे, आये दिन बिन पानी की पाइप लाइन के बिल ली वसूली के लिए दलाल परेशान करते है. जल आक्रोश पदयात्रा शाम 5:30 बजे हबीबगंज मार्केट कस्तूरबा हॉस्पिटल के सामने से जनसम्पर्क की शुरुवात करते हुए शक्ति नगर मार्किट से होते हुए साकेत नगर तक पहुची.

टैंकर माफि यों का मार्केट आज यात्रा के दूसरे दिन भी देखने को मिला, पूरे भोपाल शहर की जनता इन माफि यों से पानी लेने को मजबूर है. जल आक्रोश यात्रा के दौरान पार्टी सचिव अक्षय हुँका ने कहा कि पुरे भोपाल में झूठा जल संकट दर्शाया जा रहा वो सिर्फ पानी की कालाबाजारी को बढ़ावा देने के लिए है, स्थानीय पार्षद ने साकेत नगर 2-सी के सरकारी हैण्डपम्प में कब्जा किया हुआ है. पार्षद और कुछ रसूखदारों के लिए खुलता है ताला.

Related Posts: