मुम्बई,

भारतीय स्टेट बैंक के साथ पंजाब नेशनल बैंक ने भी होली के मौके पर आवास और वाहन रिण लेने वालों को झटका देते हुए अपनी एमसीएलआर दरों में 15 आधार अंकों की बढोतरी की घोषणा की है। नयी दरें आज से ही प्रभावी हो गयी हैं।

एमसीएलआर (सीमांत लागत ऋण दर) वह दर है, जिसके आधार पर बैंक विभिन्न ऋणों के लिए ब्याज दर तय करते हैं। बैंक के अनुसार पांच साल की एमसीएलआर दरों को 8.45 फीसदी से बढ़ाकर 8.60 फीसदी कर दिया गया है। इसी तरह तीन साल की एमसीएलआर दरों को 8.30 फीसदी से बढ़ाकर 8.45 फीसदी कर दिया गया है। एक साल की एमसीएलआर दर 8.15 फीसदी से बढ़कर 8.30 फीसदी, छह माह की 8.10 से 8.25, तीन माह की 7.95 से 8.10 आैर एक माह की 7.80 से 7.95 प्रतिशत हो गयी है।

एमसीएलआर दर बढने से उन कर्जदारों को अब अधिक ईएमआई का भुगतान करना होगा, जिनका रिण एमसीएलआर से लिंक है। पीएनबी के अलावा एसबीआई ने भी एमसीएलआर दर बढा दी है। एसबीआई ने एमसीएलआर में 0.25 प्रतिशत तक की वृद्धि कर दी है।

Related Posts: