PSLVश्रीहरिकोटा (आंध्र प्रदेश),    भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के ऐतिहासिक मिशन के तहत पीएसएलवी-सी34 के प्रक्षेपण की उल्टी गिनती निर्बाध रूप से जारी है। इसरो के एक प्रवक्ता ने यूनीवार्ता को बताया कि सोमवार सुबह 9.26 बजे शुरू हुई 48 घंटे की उल्टी गिनती सुचारू ढंग से चल रही है। प्रक्षेपण बुधवार सुबह 9.26 बजे यहां स्थित सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र के दूसरे लांच पैड से होना है।

उन्होंने बताया कि फिलहाल अंतरिक्ष यान की स्वास्थ्य जांच की जा रही है और पीएसएलवी-सी34 के दूसरे स्टेज के परिचालन के लिए ईंधन भरने का काम जारी है। इस मिशन के तहत एक साथ रिकॉर्ड 20 उपग्रह छोड़े जाने है। इनमें 727.5 किलोग्राम वजन वाले कार्टोसैट-2 के अलावा दो उपग्रह भारतीय विश्वविद्यालयों/शिक्षण संस्थानों के भी हैं।

शेष 17 विदेशी उपग्रह अमेरिका, कनाडा, जर्मनी और इंडोनेशिया के हैं। सभी 20 उपग्रहों का कुल वजन 1288 किलोग्राम के करीब है। इन उपग्रहों को 505 किलोमीटर की ऊंचाई वाले सौर समचालित (सिंक्रोनस) कक्षा में स्थापित किया जायेगा। इसरो ने इससे पहले वर्ष 2008 में 10 उपग्रह एक साथ अंतरिक्ष में छोड़े थे।