bpl4भोपाल, राज्यपाल रामनरेश यादव ने आज पुलिस स्मृति दिवस के अवसर पर देश और प्रदेश के शहीद पुलिस अधिकारियों और जवानों को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि महिलाओं के विरूद्ध अपराधों पर नियंत्रण के लिए राज्य-स्तरीय हेल्प लाईन सेवा अपना काम पूरी मुस्तैदी से कर रही है. असामाजिक तत्वों के विरुद्ध की जा रही लगातार कार्यवाही से आम आदमी ने चैन की साँस ली है और वह खुद को सुरक्षित महसूस करने लगा है.

आधिकारिक जानकारी के अनुसार यादव ने कहा कि पुलिसकर्मी समाज का अभिन्न हिस्सा हैं. समाज में शांति, सदभाव और भाईचारे के वातावरण को मजबूत रखने से ही समग्र विकास का मार्ग प्रशस्त होगा. पुलिस कर्मियों को इस सोच को ध्यान में रखकर कर्त्तव्यों का पालन करना चाहिए. मध्यप्रदेश में कानून-व्यवस्था की स्थिति को सुदृढ़ बनाये रखने के लिये सराहनीय प्रयास किये जा रहे हैं.

गृहमंत्री बाबूलाल गौर ने कहा कि पुलिसकर्मियों को कर्तव्य निर्वहन में अनेक कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है. विधि के लक्ष्य को सर्वोपरि मानते हुए कर्तव्यों का निर्वाह करने में ही समाज का हित निहित है. पुलिस का काम उसकी साख और धाक पर चलता है. समाज में पुलिस का इकबाल तभी कायम रह सकता है जब उसका कार्य और व्यवहार साफ-सुथरा हो और उसके कर्त्तव्य पालन में निष्पक्षता हो.

पुलिस महानिदेशक सुरेन्द्र सिंह ने कहा कि शहीद दिवस शहीदों की कर्त्तव्यपरायणता एवं शहादत को चिर-स्मरणीय बनाने का दिन है. उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश पुलिस हर स्थिति में प्रदेश में शांति, कानून-व्यवस्था और विकास के माहौल को सुदृढ़ बनाये रखने के लिये कृत-संकल्पित हैं.

इस अवसर पर राज्यपाल, गृहमंत्री एवं पुलिस अधिकारियों ने शहीद स्मारक पर पुष्प चक्र अर्पित कर शहीद पुलिस अधिकारियों और जवानों को श्रद्धांजलि दी. श्री यादव ने शहीदों के परिजन से भेंट भी की. कार्यक्रम में शोक परेड का आयोजन किया गया और शहीद स्मारक पर सलामी दी गई.

कार्यक्रम में राज्य मानव अधिकार आयोग के कार्यवाहक अध्यक्ष वी.एम. कंवर, सूचना आयुक्त सुखराज सिंह, मुख्य सचिव अन्टोनी डिसा, अपर मुख्य सचिव गृह बी.पी. सिंह, वरिष्ठ पुलिस अधिकारी, सेवानिवृत्त पुलिस अधिकारी तथा शहीदों के परिजन भी उपस्थित थे.

Related Posts: