bpl2भोपाल,  अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर महिला अपराध शाखा पुलिस मुख्यालय भोपाल के तत्वावधान में भारत भवन में आयोजित कार्यक्रम में आज प्रदेश के पुलिस महानिदेशक सुरेन्द्र सिंह ने कहा कि पुलिस अपराध होने के बाद कार्यवाही का एक सिलसिला या तरीका है, जब अपराध घटित हो जाता है तब पुलिस कार्यवाही की जाती है परन्तु अब हमें इससे कहीं आगे सोचना होगा.

प्रदेश में अपराधों की कमी हेतु हमें जनता के साथ मिलकर जनजागरण अभियान चलाना होगा. मंगलवार को महिला अपराध शाखा पुलिस मुख्यालय के द्वारा इस अवसर पर कई कार्यक्रम आयोजित किये गये, चित्रकला प्रदर्शनी एवं वाद-विवाद प्रतियोगिता के पश्चात्ï मुख्य अतिथि पुलिस महानिदेशक सुरेन्द्र सिंह एवं विशिष्ट अतिथि श्रीमती मीरा सिंह द्वारा पुरस्कार वितरण कार्यक्रम का आयोजन भी किया गया. जिसमें विभिन्न कॉलेजों की लड़कियों को पुरस्कार प्रदान किये गये.

महिला अपराध शाखा की मप्र शासन अति. पुलिस महानिदेशक अरुणा मोहन राव द्वारा कार्यक्रम का संचालन किया गया एवं कार्यक्रम के मुख्य आतिथ्य में अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर प्रदेश के पुलिस मुखिया ने कहा कि मप्र में महिलाओं से जुड़े अपराधिक मामलों की समीक्षा एवं परिणाम विगत 2 वर्षों में तेजी से बदले हैं विगत 2 वर्षों में 6000 प्रकरणों का निपटारा हुआ है और आजीवन कारावास सहित मौत की सजा तक दी गई.

Related Posts: