shivrajभोपाल,  स्मार्ट सिटी को लेकर उपजे विरोध के बीच कल उसका स्थान बदलने की घोषणा के बाद आज मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने नए प्रस्तावित स्थल का दौरा किया. निरीक्षण के दौरान उन्होंने कहा कि भोपाल की विशिष्टता को बरकरार रखा जाएगा.

चौहान ने सुबह यहाँ स्मार्ट सिटी के लिए प्रस्तावित स्थल नार्थ टीटी नगर का निरीक्षण किया. चौहान सुबह उच्च शिक्षा मंत्री उमाशंकर गुप्ता के सरकारी निवास पर पहुंचे. उन्होंने महापौर आलोक शर्मा, सांसद आलोक संजर आदि के साथ प्रस्तावित स्थल का दौरा किया. उन्होंने कहा कि पूरे भोपाल शहर को स्मार्ट बनाने वाली व्यवस्थाएँ की जायेंगी. भोपाल के प्राकृतिक सौंदर्य, हरियाली और खुले क्षेत्र की विशिष्टता को बरकरार रखा जायेगा.

मुख्यमंत्री ने कहा कि भोपाल झीलों की नगरी है, यहां की हरियाली मन मोह लेती है. उनका मन भी नहीं चाह रहा था कि हरियाली को कुर्बान किया जाए, इसलिए उन्होंने जगह बदल दी. चौहान ने निरीक्षण के बाद निर्देश दिये कि यहाँ क्षेत्र आधारित स्मार्ट सिटी के लिये युद्ध स्तर पर तैयारियाँ शुरू करें.

स्मार्ट सिटी के लिए पूर्व में प्रस्तावित शिवाजी नगर के स्थान पर नार्थ टीटी नगर में स्मार्ट सिटी बनाने का फैसला लिया गया है. शिवाजी नगर और तुलसी नगर में स्मार्ट सिटी बनाने का सभी वर्ग विरोध कर रहे थे. वहां स्मार्ट सिटी के लिए हजारों पेड़ काटने पड़ते. स्थानीय रहवासी, कांग्रेस नेता, अनेक सामाजिक संस्थाओं के साथ कई भाजपा नेता भी इसका विरोध कर रहे थे. भारी विरोध के बाद कल मुख्यमंत्री ने स्मार्ट सिटी का स्थान बदलने की घोषणा की थी. नार्थ टीटी नगर में पहले से खाली पड़ी भूमि पर क्षेत्र आधारित स्मार्ट सिटी बनाया जायेगा. यहां 280 हेक्टेयर भूमि उपलब्ध है.

Related Posts: