bpl2भोपाल,  अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद मध्यभारत द्वारा ‘सील’ स्वर्ण जयंती कार्यक्रम के तहत भोपाल में 28 छात्र-छात्राओं का दल पूर्वोत्तर भारत से आया है. युवाओं का स्वागत अभाविप के प्रदेश कार्यालय में भोपाल महानगर के कार्यकर्ता एवं अभिभावकों ने किया.

अंतर राज्य छात्र जीवन दर्शन नाम से यह प्रकल्प 1966 में सांस्कृतिक एकात्मता का अनुभव कराने तथा भौगोलिक दूरियों को समाप्त कर राष्टï्रीय एकात्मता को सुदृढ़ करने के उद्देश्य से प्रारंभ किया गया था. इस प्रकल्प के चलते इन 50 वर्षों में पूर्वोत्तर भारत के हजारों छात्र-छात्रायें देश के सभी प्रांतों में भ्रमण कर चुके हैं.

भ्रमण के दौरान 4 दिन परिवार के साथ रह कर नये प्रांत की भाषा, खान-पान, वेष-भूषा, त्यौहार, पूजा पद्धति इत्यादि का अवलोकन करेंगे. स्वर्ण जयंती वर्ष कार्यक्रम के तहत ही भोपाल में कल मानस भवन में सार्वजनिक एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम रखा गया है, जिसमें मुख्य अतिथि डॉ. सीताशरण शर्मा म.प्र. विधानसभा अध्यक्ष, विशिष्टï अतिथि सुरेंद्र पटवा संस्कृति एवं पर्यटन राज्य मंत्री म.प्र. शासन, अध्यक्षता आलोक शर्मा महापौर करेंगे. आलोक कुमार (डीआरएम) भी कार्यक्रम में उपस्थित रहेंगे.

Related Posts: