mp1रतलाम, लोकायुक्त पुलिस उज्जैन के दल ने मंगलवार को रतलाम में जिला आयुष अधिकारी डॉ. नीलम कटारा को अपने ही पूर्व अधिकारी से 4000 रुपए की रिश्वत लेते गिरफ्तार कर लिया। उनके खिलाफ भृष्टाचार निवारण अधिनियम की धारा 7 , 13 (डी) व 13 (2) के तहत कार्रवाई की जाएगी।

लोकायुक्त निरीक्षक प्रशांत मुकादम ने बताया कि रतलाम के पूर्व जिला आयुष अधिकारी सुरेशचन्द्र शर्मा ने 26 अक्टूबर को उज्जैन में एसपी दिलीप सोनी को शिकायत की थी। इसमे बताया था कि उनके अव्यवसायी भत्ते (एनपीए अलाउंस) के 8,96,000 रुपए का बिल पास करने के लिए जिला आयुष अधिकारी 5000 रुपए रिश्वत मांग रही है। एसपी श्री सोनी ने आरक्षक विशाल रेशमिया को फरयादी श्री शर्मा के साथ टेप लेकर भेजा। उन्होंने रिश्वत की बातचीत रिकार्ड की, तो उसमे 4000 रुपए रिश्वत देने पर बिल पास होने की बात तय हुई। मंगलवार को डीएसपी एसएस उदावत के नेतृत्व में दल भेजा गया, जिसने दोपहर में डॉ. कटारा को रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया।

डॉ. कटारा पिछले अगस्त महीने में ही मलवासा से पदोन्नत होकर जिला आयुष अधिकारी के रूप में रतलाम पदस्थ हुई थी। लोकायुक्त दल में निरीक्षक रोहित यादव, आरक्षक विशाल रेशमिया, इसरार खान,रमेश डाबर, महिला आरक्षक सुजाता वामनकर व पुष्पकुवर पंवार शामिल थे।

Related Posts:

बस हड़ताल से दूसरे दिन भी रहे लोग परेशान
भोपाल- इन्दौर यातायात सुधार के लिए 100 करोड़ की योजना
गेहूँ खरीदी अनुमान के मुताबिक ही खरीददारी का पत्र-सीएम
अतिवृष्टि प्रभावित कृषकों के लिए शिवराज ने मांगी मोदी से मदद
बस पलटने से पंद्रह बारातियों की मौत, 35 से अधिक घायल
डीजीएम विजिलेंस के यहां लोकायुक्त का छापा, करोडों की संपत्ति मिली