नई दिल्ली,

अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम में तेजी से डीजल की कीमत 61.74 रुपये और पेट्रोल 71 रुपये प्रति लीटर से ऊपर पहुंच गया है. सार्वजनिक क्षेत्र की तेल कंपनियों के दैनिक ईंधन मूल्य सूचना के अनुसार दिल्ली में सोमवार को पेट्रोल के दाम 71.18 रुपये प्रति लीटर है जो अगस्त 2014 के बाद सबसे ऊंचा स्तर है.

वहीं डीजल की कीमत दिल्ली में 61.74 रुपये लीटर के उच्च स्तर पर पहुंच गई. मुंबई में यह 65.74 रुपये प्रति लीटर के भाव पर बेचा जा रहा है जिसका कारण स्थानीय बिक्री कर या वैट का अधिक होना है. तेल कंपनियों के अनुसार 12 दिसंबर 2017 के बाद तेल के दाम लगातार बढ़ रहे हैं. उस दिन डीजल की कीमत 58.34 रुपये लीटर थी.

पिछले एक महीने में इसमें 3.40 रुपये प्रति लीटर की वृद्धि हुई. इस दौरान पेट्रोल के दाम 2.09 रुपये लीटर बढ़े. वैश्विक स्तर पर कच्चे तेल के व्यापार के दो प्रमुख मानकों (ब्रेंट औरडब्ल्यूटीआई) में दिसंबर 2014 के बाद काफी तेजी आई है. पिछले सप्ताह ब्रेंट 70.05 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गया जबकि डब्ल्यूटीआई 64.77 डॉलर पर पहुंच गया. कच्चे तेल के दाम में वृद्धि के बाद पेट्रोल-डीजल के दाम बढऩे शुरू हो गए हैं.

इस स्थिति को देखते हुए सरकार से आम लोगों को राहत देने के लिए उत्पाद शुल्क में कटौती की मांग फिर से की जाने लगी है. बीजेपी नीत एनडीए सरकार ने अपने कार्यकाल में उत्पाद शुल्क में एक बार कटौती की है. अक्टूबर 2017 में जब दिल्ली में पेट्रोल का दाम 70.88 रुपये प्रति लीटर और डीजल 59.14 रुपये प्रति लीटर पहुंच गया था, सरकार ने उत्पाद शुल्क में 2 रुपये प्रति लीटर की कटौती की है.

Related Posts:

मुंबई में महफूज महसूस करता हूं: अमिताभ
भारतीय अंतरिक्ष यात्रा में नया अध्याय, एक साथ 20 उपग्रह प्रक्षेपित
भारत आपदा जोखिम में कमी लाने के प्रति वचनबद्ध : राजनाथ
प्रणव ने किया नवाचार के लिए 55 लोगों को सम्मानित
गुजरात में लाखों ने किया योग, रामदेव, अमित शाह की मौजूदगी में बने कई विश्व रिकार...
सीबीआई ने एसटीएफ को किया बेनकाब