नयी दिल्ली,

देश में पेट्रोल के दाम करीब साढ़े तीन साल के उच्च्तम स्तर पर पहुँच चुके हैं जबकि डीजल हर दिन सर्वकालिक उच्च स्तर का नया रिकॉर्ड बना रहा है, लेकिन, डीजल की महँगाई पेट्रोल से कहीं ज्यादा तेजी से बढ़ रही है और यदि यह क्रम जारी रहा तो हो सकता है कि देश में डीजल पेट्रोल से महँगा बिकने लगे।

पेट्रोल और डीजल की कीमतें रोजना तय करने की व्यवस्था पिछले साल 16 जून से लागू की गयी थी।तब से अब तक राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में पेट्रोल के दाम 9.29 प्रतिशत और डीजल के 14.24 प्रतिशत बढ़े हैं।

देश की सबसे बड़ी तेल विपणन कंपनी इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन के अनुसार, 16 जून 2017 को दिल्ली में पेट्रोल 65.48 रुपये प्रति लीटर था जो 18 जनवरी 2018 को 71.56 रुपये प्रति लीटर पर पहुँच गया।यह अगस्त 2014 के बाद का इसका उच्चतम स्तर है।

डीजल की कीमत पिछले साल 16 जून को 54.49 रुपये प्रति लीटर थी जो इस गुरुवार को 62.25 रुपये प्रति लीटर हो गयी है।इस साल के आँकड़े ही देखें तो जनवरी के पहले 18 दिन में पेट्रोल के दाम 1.59 रुपये बढ़े है जबकि डीजल 2.61 रुपये प्रति लीटर महँगा हो चुका है।

Related Posts: