suresh_prabhuनई दिल्ली,  रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने आज कहा कि सरकार कठिन दौर से गुजर रही रेलवे के लिए गैर पारंपरिक संसाधनों से पैसा जुटाने के उद्देश्य से कई मोर्चों पर एक साथ काम कर रही है और वह पांच वर्षों में बीमार रेलवे का उपचार कर इसे पटरी पर लाने की योजना पर काम कर रही है.

रेल बजट और रेलवे की लेखानुदान मांगों पर राज्यसभा में लगभग 7 घंटे चली चर्चा का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि आज रेलवे को भारी राशि की जरूरत है जिसके लिए आम बजट में भी रेलवे का हिस्सा बढाये जाने की जरूरत है.
उनके जवाब के बाद राज्यसभा ने अगले वित्त वर्ष के पहले दो महीने के लिए रेलवे की 81114.725 करोड रूपये की लेखा अनुदान मांगों तथा संबंधित विनियोग विधेयक को मंजूरी देकर लोकसभा को लौटा दिया.