शिवपुरी,  बच्चों की चाहत में लोग इन दिनों महिलाओं की खरीद फरोख्त किस तरह कर रहे हैं। इसका जीता जागता उदाहरण बीते रोज पोहरी तहसील में देखने को मिला हैं।

यहां पर एक महिला को एक ही बार नहीं पांच बार अनुबंध समाप्त करने के बाद अब छटवी बार अनुबंध करके एक सक्षम परिवार में विशेष लोगों द्वारा महिला को अपने घर पर रखकर उसकी कोख में अपने बच्चे की किलकारी सुनने के लिए बेताब हैं। इतना ही नहीं इस मामले में कुछ समय से इस महिला का कान्ट्रेक्ट यहां भी समाप्त हो जाएगा।

इससे साफ जाहिर होता है कि महिला पैसों के लालच में दूसरे पति के साथ रह रही हैं। शिवपुरी जिले की पोहरी तहसील में एक सक्षम परिवार के व्यक्ति ने इस महिला को पिछले दो वर्षो से बच्चे के लालच में अपने घर पर रख रखा हैं कहने को यह महिला पांच बार कान्ट्रेक्ट अन्य जगह भी रह चुकी हैं और अब इसका यह छटवां कान्ट्रेक्ट हैं। यह महिला मूलत: बिहार के कंचनपुर की रहने वाली हैं।

यह अपनी आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए इस तरह का धंधा करती हैं। उसका कहना है कि उदर पूर्ति के लिए हमें कुछ न कुछ करना पड़ता हैं। एक बार के अनुबंध में एक या दो साल का हमारा खर्चा चल जाता हैं। महिला को मजबूरी में किसी दूसरी आदमी की तलाश करनी होती हैं।