16as15भोपाल,15 अगस्त.मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि किसी भी प्रदेश की प्रगति की पहली शर्त शांति व्यवस्था है.नागरिकों को सुरक्षा का भरोसा होने पर विकास की संभावनाएँ प्रबल होती हैं.उन्होंने प्रसन्नता जाहिर की कि प्रदेश की कानून-व्यवस्था बेहतर है.उन्होंने इसके लिए पुलिसकर्मियों को बधाई दी.
मुख्यमंत्री चौहान बीते शनिवार को अपने निवास पर राष्ट्रपति पदक विजेता पुलिसकर्मियों के सम्मान समारोह में बोल रहे थे.उन्होंने पदक विजेताओं एवं उनके परिजनों को बधाई देते हुए कहा कि मध्यप्रदेश की विकास दर और कृषि विकास दर देश में सर्वाधिक है.प्रदेश में भरपूर निवेश आ रहा है.इसमें सबसे महत्वपूर्ण योगदान पुलिस बल का है.उन्होंने कहा कि पुलिसकर्मियों की सजगता और तत्परता से प्रदेश में नक्सलवाद पूरी तरह नियंत्रित है.डकैतों के आतंक का खात्मा हो गया है.इस समय प्रदेश में कोई भी सूचीबद्ध डकैत गिरोह नहीं है.
मुख्यमंत्री ने कहा कि अपराधों का स्वरूप अब बदल रहा है.सायबर क्राइम जैसे अपराध होने लगे हैं.इनसे निपटने के लिए पुलिस को निरंतर प्रशिक्षण और आधुनिक तकनीकी के उपयोग का प्रयास करना चाहिए.इन क्षेत्रों में पुलिस को विशेषज्ञता हासिल करनी होगी.उन्होंने कहा कि महिलाओं के प्रति होने वाले अपराध के प्रति सजग और संवेदनशील रहें तथा हर थाने में महिला पुलिसकर्मी की व्यवस्था होना चाहिए.उन्होंने महिला पुलिस बल की संख्या बढ़ाने पर भी जोर दिया.

डॉ. ए.पी.जे. कलाम शोध पुरस्कार वितरित
मुख्यमंत्री ने कहा कि बढ़ती हुई जनसंख्या को देखते हुए हर वर्ष 5000 पुलिसकर्मियों की भर्ती की जाएगी तथा पुलिसकर्मियों के लिए 25 हजार नए आवास बनाए जाएंगे.चौहान ने मध्यप्रदेश पुलिस हाऊसिंग कार्पोरेशन द्वारा स्थापित डॉ ए.पी.जे. अब्दुल कलाम शोध पुरस्कार पाने वाले आरक्षक श्री कमल प्रसाद नामदेव एवं श्रीमती बसंती नामदेव के पुत्र राहुल नामदेव को बधाई दी तथा अपनी स्वेच्छानुदान निधि से सवा लाख रूपए की राशि पुरस्कार स्वरूप देने की घोषणा की.साथ ही कार्पोरेशन की तरफ से एक लाख रूपये की राशि एवं प्रशस्ति-पत्र भी राहुल नामदेव के माता-पिता को प्रदान किया.उल्लेखनीय है कि राहुल नामदेव ब्रेल लिपि पर आधारित विज्ञान एवं गणित की शिक्षा पर शोध कर रहे हैं.
पुलिस महानिदेशक सुरेन्द्र सिंह ने कहा कि मध्यप्रदेश पुलिस की गिनती देश के अच्छे पुलिस बलों में होती है.पुलिस की सतर्कता से प्रदेश में बेहतर कानून-व्यवस्था और समाज में भाईचारा कायम है.प्रदेश में पिछले पाँच वर्ष में 26 हजार पुलिसकर्मियों की भर्ती की गई है तथा 10 हजार नए आवास बनाए गये हैं. पुलिस हाऊसिंग कार्पोरेशन के प्रबंध संचालक संजय राणा ने डॉ. कलाम शोध पुरस्कार की जानकारी दी.विशेष सशस्त्र बल के अतिरिक्त महानिदेशक के.एन. तिवारी ने आभार व्यक्त किया.समारोह में श्रीमती साधना सिंह, पुलिस महानिदेशक हाऊसिंग कार्पोरेशन ऋ षि कुमार शुक्ला, पुलिस महानिदेशक मैथिलीशरण गुप्त और बी.के. सिंह, पुलिस अधिकारी, पदक विजेता पुलिसकर्मी एवं उनके परिजन उपस्थित थे.

Related Posts: