नयी दिल्ली,  राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी ,प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ,लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ,कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने देशवासियों को ईद की बधाई दी है ।

श्री मुखर्जी ने कई ट्वीट करके कहा ,‘ देश के भीतर और बाहर रहने वाले हमारे नागरिकों खासकर मुस्लिम भाइयों एवं बहनों को ईद उल फित्र की बधाइयां ।’उन्होंने कहा कि यह पावन मौका हम सबमें अटूट एकता और साझी नियति के प्रति हमारे दृढ़ विश्वास को और मजबूत करेगा । यह सदियों से हमारी साझी संस्कृति की खासियत रही है । रमजान के पावन माह में रोजे के अंत में आन वाला यह पर्व न सिर्फ खुशी , शांति और समृद्धि लाएगा बल्कि मानवता की सेवा के प्रति समर्पण की भावना काे भी मजबूत करेगा।

श्री मोदी ने अपने ट्विटर पर लिखा ,‘ ईद उल फित्र की शुभकामनाएं । ’ उन्होंने कामना की कि यह पावन मौका समाज में शांति और भाईचारे की भावना को और मजबूत करे ।

श्रीमती महाजन ने कहा, “मैं ईद-उल-फित्र के पावन मौके पर सभी देशवासियों को बधाई देती हूँ। ईद-उल-फित्र का पर्व हमारे हृदय में क्षमाशीलता, त्याग और परोपकार की भावना का संचार करता है। इस मौके पर मैं समस्त देशवासियों से देश में शान्ति और लोगों के बीच भाईचारे के लिए प्रार्थना करने की अपील करती हूँ।”

श्रीमती गांधी ने अपने संदेश में कहा कि ईद का त्योहार भाईचारे, प्रेम और परस्पर सौहार्द का मुबारक मौक़ा है। विश्व में भारत ही ऐसा अनूठा देश है, जहां सभी धर्मावलंबियों का सादगी और प्यार भरा मेलजोल आपसी सम्बन्धों की मज़बूती का आधार है।

उन्हाेंने उम्मीद व्यक्त की कि देश की अनेकता में एकता एवं सांप्रदायिक सौहार्द को जो विध्वंसकारी शक्तियां छिन्न-भिन्न कर देना चाहती हैं,वे अपने मंसूबों में कभी कामयाब नहीं होंगी। सत्य, प्रेम, सौहार्द और भाईचारा हमेशा नफ़रत तथा बांटने वाली ताकतों पर भारी पड़ेगा। यही भारत की ख़ूबी है और ख़ूबसूरती भी है।
कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा,“ईद के मुबारक मौक़े पर हमें महात्मा गांधी के विचारों से प्रेरणा लेनी चाहिए । महात्मा गांधी का मानना था कि व्यक्ति को सबसे पहले आत्म नियंत्रण करके मानवता, अहिंसा, प्रेम और सत्य की रक्षा के लिए कृतसंकल्प रहना चाहिए, इसी से देश एवं देशवासियों का कल्याण होगा।”

Related Posts: