27askn01अशोकनगर, 27 फरवरी, नससे. जिले मेें नवगठित जनसंघर्ष समिति के आव्हान पर शुक्रवार को बाजार बंद बुलाया था.जहां व्यवस्था बनाये रखनें तथा प्रदर्शन में शामिल हो रहे लोगों और समिति के सदस्यों पर पुलिस की पैनी नजरें रहीं .साथ ही धरना प्रदर्शन एवं भाषणबाजी तथा ज्ञापन कार्यक्रम लगभग दो सौ लोगों की भीड में सिमट कर रह गया.तो वहीं कांग्रेस की जिला कमेटी के लोग प्रदेश मेें चल रहे व्यापम एवं पीएमटी फर्जीवाडे को लेकर प्रदेश सरकार को घेरने अशोकनगर की सडकों पर निकले तथा उक्त फर्जीवाडे की जांच सीबीआई से कराने की मांग को लेकर शहर में प्रदर्शन किया.

विगत रोज तीसरे चरण के पंचायती चुनाव के दौरान ग्राम गनिहारी स्थित पोलिंग क्रमांक 71 के पीठासीन अधिकारी शिवकांत शर्मा की लिखित शिकायत पर भाजपा के पूर्व विधायक पर देहात थाना पुलिस ने प्रकरण दर्ज किया था.जिसके चलते उन्हें जेल जाना पडा.जिसे लेकर मुंगावली के पूर्व विधायक को साथ लेकर जनसंघर्ष समिति का गठन किया गया था.जिसमें प्रशासन पर अराजकता एवं मनमानी गतिविधियों के साथ भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगाते हुए मुख्यमंत्री के नाम जिला कलेक्टर को ज्ञापन सौंपनें तथा धरना प्रदर्शन एवं बाजार बंद का आव्हान किया था.समिति ने अपने उद्देश्यों की पूर्ति के लिये शुक्रवार को जन आंदोलन की शक्ल देने की पहल की और शहर की सडकों पर समिति के संयोजक देशराजसिंह की अगुवाई में निकल पडे.और लोगों से अपने प्रतिष्ठान बंद करने की अपील करते नजर आए.उक्त आंदोलन की गतिविधियों पर पुलिस की पैनी नजर देखने मिली.

Related Posts: