नयी दिल्ली,

भारतीय तेज़ गेंदबाज़ मोहम्मद शमी ने राजधानी दिल्ली में प्रदूषण की समस्या को चिंताजनक तो माना लेकिन साथ ही कहा कि श्रीलंकाई टीम ने इस मामले पर शोर अधिक किया।

शमी ने यहां फिरोजशाह कोटला मैदान में तीसरे दिन के खेल के बाद संवाददाता सम्मेलन में सोमवार को कहा“ प्रदूषण का यह स्तर होना सोचने वाली बात है।लेकिन श्रीलंका ने जितना शोर किया और जितना हो हल्ला मचाया उतना यह था नहीं।”

तेज़ गेंदबाज़ ने साथ ही कहा“ हम भारतीय इन चीजाें के ज्यादा अभ्यस्त हैं इसलिये हमपर उतना असर नहीं पड़ा।लेकिन इस स्थिति पर सोचा जाना चाहिये।”

कोटला के विकेट के बारे में पूछे जाने पर शमी ने कहा“ जैसा सोचा था वैसा विकेट हमें नहीं मिल पाया।
लेकिन इस मैदान पर भारतीय तेज़ गेंदबाजों के लिये एक अच्छी बात यह रही कि हमें लंबे स्पेल डालने को मिले।

आमतौर पर भारतीय तेज़ गेंदबाज़ पहले एक पारी में 12-15 ओवर ही डाल पाते थे लेकिन यहां हमने लंबे स्पेल डाले जिससे हमें अपने दमखम का भी पता चला।” शमी ने श्रीलंका की पहली पारी में अब तक 24 ओवर और इशांत ने 27 ओवर डाले हैं और दोनेां ही गेंदबाजों ने दो दो विकेट लिये हैं।

स्लिप में कई कैच छूटने के सवाल पर शमी ने कहा“ कैच छूटना खेल का ही एक हिस्सा है जिससे तेज़ गेंदबाज को गुस्सा जरूर आता है लेकिन हम एक इकाई की तरह एक दूसरे को प्रोत्साहित करते रहते हैं।टीम 100 ओवर से अधिक फील्डिंग कर चुकी है और सभी ने अपनी ओर से पूरी कोशिश की है।”

इस मैच में परिणाम निकलने की उम्मीद पर तेज़ गेंदबाज़ ने कहा“ हम परिणाम की उम्मीद रखते हैं और अंतिम समय तक जीत हासिल करने का प्रयास करते हैं।”

Related Posts: