भोपाल, 9 जनवरी. मध्यप्रदेश पुलिस ने राजधानी भोपाल और इंदौर समेत राज्य के सात शहरों को आतंकी निशाने पर बताया. पुलिस के मुताबिक एटीएस इस सिलसिले में किसी भी खतरे से निपटने को तैयार है. प्रदेश के पुलिस महानिदेशक एसके राउत ने कहा, ‘प्रदेश में इंदौर, उज्जैन, रतलाम, सिवनी, मंदसौर, जबलपुर और भोपाल आतंकियों के निशाने पर हैं. इन शहरों में कभी भी (आतंकी) घटनाएं हो सकती हैं.

उन्होंने बताया, ‘कुछ आतंकी वारदातों और दंगों के बाद मिले ई-मेल के आधार पर हम इन शहरों को आतंकी निशाने पर मान रहे हैं. ‘राउत ने बताया कि आतंकी घटनाओं के आशंकित खतरे के मद्देनजऱ प्रदेश में 188 पद सृजित करते हुए आतंकवाद निरोधक दस्ते (एटीएस) का गठन पहले ही किया जा चुका है. उन्होंने कहा, ‘एटीएस पहले भी कई अहम मामलों में बड़ी कार्रवाई कर चुका है और वह आतंकवाद की किसी भी चुनौती के लिये तैयार है.उन्होंने साइबर अपराध को पुलिस की मौजूदा चुनौतियों की फेहरिस्त में शामिल बताया. पुलिस महानिदेशक ने बताया कि प्रदेश में इंदौर समेत चार बड़े शहरों में साइबर अपराध निरोधक शाखाएं खोलना प्रस्तावित है.

बिहार में हाई अलर्ट

नेपाल से सटे बिहार के पूर्वी चंपारण इलाके में सात-आठ मुजाहिदीन आतंकियों के प्रवेश कर जाने और उनके द्वारा रेलवे स्टेशनों और ट्रेनों को उड़ा दिए जाने की धमकी की खबर के मद्देनजऱ नेपाल से सटे, राज्य के सभी सीमावर्ती रेलवे स्टेशनों को अलर्ट कर दिया गया है. रेलवे सुरक्षा बल के समस्तीपुर मंडल के सुरक्षा आयुक्त एसएन आर्या ने बताया कि खुफिया विभाग से मिली जानकारी के अनुसार, गत सप्ताह नेपाल के काठमांडू में एक पाकिस्तानी आतंकी के पकड़े जाने के विरोध में सात या आठ अफगानी मुजाहिदीन आतंकियों के नेपाल होते हुए बिहार की सीमा में प्रवेश करने की सूचना है. उन्होंने बताया कि इन अफगानी मुजाहिदीन की रक्सौल से दिल्ली जाने वाली ट्रेनों और रक्सौल सहित कुछ अन्य स्टेशनों को उड़ाने की धमकी के मद्देनजऱ सीमावर्ती इलाकों रक्सौल, मोतिहारी, बेतिया, सुगौली और नरकटियागंज सहित सभी स्टेशनों को हाई अलर्ट कर दिया गया है. साथ ही दिल्ली की ओर जाने वाली ट्रेनों को सघन जांच के बाद ही रवाना किया जा रहा है. उन्होंने बताया कि रक्सौल सहित सीमावर्ती अन्य स्टेशनों के स्टेशन मास्टरों को यात्री सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए सख्त हिदायत दी गयी है कि वे अपने रेलवे स्टेशनों से ट्रेनों को तभी रवाना करें जब उन्हें आरपीएफ और जीआरपी से ट्रेनों की पूर्ण जांच का प्रमाण पत्र दे दिया जाये.

योगी का मंच उड़ाने की सूचना से हड़कंप

गोरखपुर, 9 जनवरी. आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा ने पिपराइच में गोरक्ष पीठ के उत्तराधिकारीऔर सदर सांसद योगी आदित्यनाथ के सभा मंच को उड़ाने की योजना बनाई थी। पिपराइच स्टेशन भी उड़ाने की साजिश थी। आइबी से सूचना मिलने के बाद प्रशासन सकते में आ गया। आनन-फानन योगी के सभा स्थल की सुरक्षा बढ़ाई गई।

Related Posts: