18cpr1भोपाल,18 मई,नभासं. राज्य में बनने वाले चारों नए औद्योगिक कॉरिडोर में मॉडल औद्योगिक केन्द्र विकसित किये जायेंगे. जबकि औद्योगिक विकास के लिये जरूरी प्रक्रियाओं को और सरल बनाया जायेगा. इधर, ईज ऑफ डूइंग बिजनेस के तहत नियम-प्रक्रियाओं को सरल कर उसके काम को नए सिरे से गति प्रदान की जाएगी.

इस बातें मंत्रालय में वाणिज्य एवं उद्योग विभाग की समीक्षा के दौरान सामने आई हैं. इस मौके पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के साथ वाणिज्य-उद्योग मंत्री श्रीमती यशोधरा राजे सिंधिया, मुख्य सचिव अन्टोनी डिसा, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री एस.के. मिश्रा, प्रमुख सचिव उद्योग मोहम्मद सुलेमान, प्रमुख सचिव वित्त आशीष उपाध्याय, उद्योग आयुक्त बी.एल. कांताराव और एमडी ट्रायफेक डी.पी. आहूजा भी मौजूद थे.

Related Posts: